अक्सर नक्सल विरोधी अभियान में शामिल होने वाले सीआरपीएफ जवान ने खुद को मारी गोली, मचा हड़कंप

0

गुमला: 10 दिनों पहले छुट्टी से लौटे नक्सलियों के खिलाफ अक्सर अभियान में शामिल रहने वाले गुमला के अति संवेदनशील नक्सली क्षेत्र बिशुनपुर थाना के बनारी पुलिस पिकेट में पदस्थापित सीआरपीएफ 158 बटालियन के सिपाही सोमपाल सिंह के द्वारा अपने ही रायफल से खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लेने की खबर से हड़कंप मच गया है।सिपाही ने क्यों सुसाइड की इस बात का पता अभी तक नहीं चल पाया है। घटना गुरुवार रात की बताई जाती है।158 बटालियन के अधिकारी ने कहा कि सिपाही के शव का पोस्टमार्टम व कोरोना जांच के बाद फ्लाइट से शव को उनके पैतृक गांव भेजा जाएगा। इस घटना से उनके सहयोगियों और कैंप में शोक की लहर दौड़ गई है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरुवार को सोमपाल सिंह ने अपने साथियों के साथ वॉलीबॉल मैच खेलने के बाद कैंप में ही अपने एक दोस्त के जन्मदिन पार्टी में भी शामिल हुए। उसके बाद वह अपने कमरे में चले गए और वहां अपनी राइफल से ही खुद को गोली मार ली। गोली उनके गर्दन में लगी है।

बताया जाता है कि सिपाही विवाहित है। उनका एक पुत्र और पुत्री है। वह मेरठ के भावना थाना क्षेत्र छुछई गांव निवासी थे।

उनके साथ काम करने वाले जवानों ने कहा कि सोमपाल ने आत्महत्या क्यों की इस बारे में पता नहीं चल पाया है। जन्मदिन की पार्टी के बाद वह कमरे में जैसे ही गए गोली चली। गोली की आवाज सुनकर सभी उनके साथी कमरे में गए। जहां वे मृत पाए गए।