आंगनबाड़ी केंद्र एक वर्ष बाद आज से खुल रहा है।

0

झारखंड- आंगनबाड़ी केंद्र विभागीय निर्देश पर एक वर्ष बाद गुरुवार से खुल रहा है। केंद्र के संचालन को लेकर सेविका व सहायिका पिछले कई दिनों से आंगनबाड़ी केंद्र समेत आसपास की सफाई कर रही हैं। संक्रमण से बचाव के लिए सभी आंगनबाड़ी केंद्र के अंदर व बाहर सैनिटाइज किया गया।

कक्षा के अनुसार बच्चों का रोस्टर तैयार किया गया है। ग्रामीणों ने कहा कि सरकार का नियम-कानून अजीब है। सातवीं कक्षा तक विद्यालय को बंद रखा गया है। अब नन्हें बच्चों के लिए आंगनबाड़ी केंद्र खोला जा रहा है। क्या छोटे बच्चे कोरोना संक्रमण से बच पाएंगे? बच्चे नही पहनेंगे मास्क : एक वर्ष बाद प्रखंड के आंगनबाड़ी केंद्रों को खोलने की तैयारी को लेकर बुधवार को प्रखंड बाल विकास पदाधिकारी सुप्रिया शर्मा ने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र शुरू करने के लिए सभी तरह की सावधानी बरती जा रही है। कई दिनों से साफ सफाई के साथ-साथ सैनिटाइज किया जा रहा है। तीन से छह वर्ष तक के नामांकित बच्चों को एक साथ नहीं बुलाया जाएगा। रोस्टर के आधार पर बच्चे केंद्र में आएंगे।

सेविका-सहायिका मास्क पहन कर केंद्र में प्रवेश करेंगी। परंतु कोई भी बच्चा मास्क नहीं पहनेगा। छह फीट की दूरी पर आंगबाड़ी केंद्र में बच्चों को बैठाया जाएगा। घर या बाहर का भोजन बच्चे नहीं खा सकते। बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्र में ही नास्ता व भोजन दिया जाएगा। एसडीओ ने छह बैंक ऋण बकाएदारों के खिलाफ जारी किया वारंट : अनुमंडल पदाधिकारी सत्यवीर रजक ने धालभूमगढ़ थाना प्रभारी को छह बैंक ऋण बकाएदारों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। बकाया ऋण वसूली के लिए इन छह देनदारों के खिलाफ अनुमंडल कार्यालय से वारंट निर्गत किया गया है। थाना प्रभारी को 16 अप्रैल तक गिरफ्तारी वारंट पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। अनुमंडल कार्यालय से संजय चौबे, सुदीप कुमार पांडेय, विमल कुमार, सुदीप कुमार साव, पूनम सिंह व शांति नाथ पातर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है।