इटली के लिए शुक्रवार रहा ‘ब्लैक फ्राईडे’, कोरोना ने ली 250 लोगों की जान

0

एजेंसी : कोरोना वायरस के कारण दुनिया की अर्थव्यवस्था एक ओर डगमगा गई है दूसरी ओर आम जनमानस खौफ के साए में है। स्कूल कॉलेज खेलकूद और हवाई अड्डे बंद हो गए हैं और बंद भी हो रहे हैं। सांस्कृतिक आयोजनों पर भी रोक लग गई है। चीन के बाद अभी इटली कोरोना के कोहराम से कराहने लगा है।शुक्रवार का दिन इटली के लिए ब्लैक फ्राइडे रहा।कोरोना वायरस वैश्विक महामारी की चपेट में आए 250 लोगों की मौत शुक्रवार को हो गई। इटली में मौतों का एक रिकॉर्ड बन गया जहां कोरोना वायरस से एक ही दिन में 250 के लोगों की मौत हो गई।इसके साथ ही इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 1266 हो गई है. इटली में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 17,660 हो गई है।

दूसरी ओर जानलेवा वायरस से अमेरिका में 41 लोगों की मौत हो चुकी है।यह अमेरिका के 50 राज्यों में से 46 में फैल चुका है और देशभर में करीब 2,000 मामले सामने आए हैं।

कोरोना पीड़ितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अमेरिका ने इसे राष्ट्रीय महामारी घोषित करते हुए आपातकाल लगा दिया है। अमेरिका में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच राष्ट्रपति ट्रंप ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की। इससे कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए संघीय कोष से सरकार को 50 अरब डॉलर की राशि मिलेगी।

इसके अलावा सऊदी अरब ने कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है। सऊदी अरब में 86 लोग इस जानलेवा वायरस से पीड़ित हैं।फ्रांस में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण 18 लोगों की मौत होने से कुल मृतक संख्या 79 पहुंच गई।

बता दें कि इटली में कोरोना वायरस बड़ी तेजी से पांव पसार रहा है। भारत के भी कुछ लोग वहां फंसे हुए हैं. इनकी जांच के लिए भारत की एक मेडिकल टीम शुक्रवार को इटली पहुंच गयी है।भारत सरकार की मंशा वहां फंसे भारतीयों को जल्द से जल्द वापस लाने की है।

भारत में कोरोना वायरस से एक और मौत हो गयी है. पहली मौत कर्नाटक में और अब दिल्ली में इस वायरस से एक महिला की मौत हुई है। दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण से 68 वर्षीय एक महिला की मौत हो गयी।कोरोना वायरस के भारत में कुल 89 मामले सामने आये हैं।इनमें से दो लोगों की मौत हो गयी है. जबकि इसके अलावा इनमें से चार लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है। इनमें 17 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।वहीं, तेजी से फैल रहे इस वायरस को रोकने के लिए कई राज्यों ने स्कूलों, कॉलेजों, सिनेमाघरों को बंद कर दिया है और ज्यादातर सार्वजनिक कार्यक्रम भी रद्द कर दिये गये हैं।