इनामी नक्सली को जंगल से ऐसे दबोचा

0

झारखंड- जिला पुलिस ने पीएलएफआई का एरिया कमांडर सनिका ओड़ेया उर्फ चोयता उर्फ मोरहा को गिरफ्तार करने में सफलता पायी है। इस पर दो लाख रुपए का इनाम घोषित था। एसपी आशुतोष शेखर ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि सनिका ओड़ेया के अड़की थाना क्षेत्र के लेबेद जंगल में सक्रिय होने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर एएसपी अभियान रमेश कुमार के नेतृत्व में सीआरपीएफ अड़की और अड़की पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा छापामारी की गयी। छापामारी के दौरान सनिका ओड़ेया को जंगल में गिरफ्तार किया गया. इस दौरान उसके पास से एक देसी पिस्टल, दो गोली और पीएलएफआई के दो पर्चे बरामद किये गये हैं

खूंटी के एसपी ने बताया कि वह पीएलएफआई में काफी सक्रिय था। उसके खिलाफ कई हत्या के मामले दर्ज हैं. इसके साथ ही 2015 में तमाड़ थाना क्षेत्र के एक मामले में पकड़ा गया था। तब वह बाल सुधार गृह से भाग गया था और फिर से पीएलएफआई में शामिल हो गया था। मुरहू में 2019 में मागो मुंडा और उसके परिवार के तीन लोगों की हत्या में भी शामिल था। उसकी गिरफ्तारी में एसडीपीओ अमित कुमार, सीआरपीएफ 94 बटालियन अड़की के सहायक कमांडेंट राजेंद्र सिंह, इंस्पेक्टर शाहिद रजा, अड़की थाना प्रभारी पंकज कुमार दास, पुअनि पवन कुमार, विवके कुमार, रोहित कुमार, सुशांत सुंडी, संजय कुमार, सीआरपीएफ के पुअनि टीएस बुड, नरेंद्र सिंह, विनोद कुमार, मुंषी राम और सशस्त्र बल शामिल थे।