एक और हिंडाल्को कर्मी का कोरोना से हुई मौत

0

खबर:-प्रविन्द पाण्डे

मुरी:- 27 अप्रैल श्मशान घाट में घंटों पड़ा रहा मृतक का शव बड़ी मशक्कत के बाद एंबुलेंस के चालक ने जलाया शव। जानकारी के अनुसार मुरी हिडाल्को में कार्यरत इंजीनियर राकेश कुमार का कोरोना से मृत्यु हो गई। उनका पिछले कई दिनों से मुरी सिंगपुर नर्सिंग होम में इलाज चल रहा था। जहां मंगलवार को उनका निधन हो गया। उनके शव को एंबुलेंस के द्वारा मुरी स्थित स्वर्णरेखा नदी श्मशान घाट लाया गया। परंतु उसे जलाने के लिए कोई भी आगे नहीं आ रहा था। प्रबंधन द्वारा हिंडाल्को अस्पताल में अस्थाई रूप से कार्य कर रहे अस्पताल कर्मी को शव को जलाने का निर्देश दिया। परंतु उन लोगों ने शव को जलाने से इंकार कर दिया। जिससे काफी देर तक श्मशान घाट में शव एंबुलेंस में पड़ा रहा। तब अपनी सूझबूझ एवं साहस का परिचय दिखाते हुए एंबुलेंस चालक ने ही उसे एंबुलेंस से उतारा एवं घाट पर उसे जलाया गया। इससे कुछ दिन पूर्व की एक हिंडालको कर्मी की कोरोना से मौत हो गई थी। हिंडालको प्रबंधन द्वारा इस तरह की व्यवस्था पर स्थानीय लोगों में काफी रोष है।