एक माह से अधिकारी विहीन पड़ा है, झरिया अंचल कार्यालय

0

झरिया- झरिया अंचल कार्यालय एक माह से अधिकारी विहीन हो गया है। यहां के पूर्व अंचलाधिकारी राजेश कुमार का हजारीबाग में स्थानांतरण होने के बाद किसी भी अधिकारी की नियुक्ति जिला प्रशासन की ओर से नहीं की गई है। इससे आम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लगभग पांच लाख की आबादी वाले झरिया अंचल क्षेत्र के इस कार्यालय में किसी पदाधिकारी के नहीं होने से कार्य पर असर पड़ रहा है। शादी-विवाह के लिए लोगों को अनुमति नहीं मिल रही है। झरिया अंचल में किसी अधिकारी के नहीं होने से यहां कार्यरत कर्मी भी अपनी मनमानी कर रहे हैं। कार्यालय देर से आकर जल्दी चले जाते हैं। कोई देखने वाला नहीं है। इससे यहां का कामकाज बाधित हो रहा है।

आम लोग और छात्र आय, आवासीय, जाति प्रमाण पत्र के लिए रोज कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं। वहीं जमीन की रसीद काटने का काम भी ठप पड़ा हुआ है। कोयरीबांध की वृद्ध ललिता देवी ने कहा कि कई माह से वृद्धा पेंशन नहीं मिल रहा है। कार्यालय आने पर कोई अधिकारी और कर्मचारी नहीं मिलते हैं। कार्यालय आकर परेशान होते हैं। वहीं कर्मचारियों का कहना है कि अधिकारी नहीं हैं, इसमें हम क्या कर सकते हैं। झरिया अंचल के पूर्व अधिकारी राजेश कुमार का कहना है कि हम तो हजारीबाग में अपना पदभार ग्रहण कर लिए हैं। झरिया में जल्द नया अंचलाधिकारी की नियुक्ति जिला प्रशासन की ओर से ही की जाएगी।