एयर इंडिया (Air India) सामाजिक सुरक्षा कवरेज के लिए ईपीएफओ में शामिल हुई

- Advertisement -
- Advertisement -

एयर इंडिया (Air India) अपने कर्मचारियों की सामाजिक सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने यानी सामाजिक सुरक्षा कवरेज के लिए कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) में शामिल हो गई है। इससे पहले एयर इंडिया लिमिटेड ने ईपीएफ और एमपी अधिनियम 1952 की धारा 1(4) के तहत स्वेच्छा से कवरेज के लिए आवेदन किया था। इस संबंध में एक दिसंबर, 2021 को जारी राजपत्र (गजट) अधिसूचना जारी कर इसकी अनुमति दी गई। यह अधिसूचना 13 जनवरी, 2022 से प्रभावी है।

- Advertisement -

इसके तहत उन 7,453 कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा लाभ प्रदान किया जाएगा, जिनके दिसंबर, 2021 के लिए योगदान को एयर इंडिया ने ईपीएफओ के पास दाखिल किया है। एयर इंडिया के ये कर्मचारी अब निम्नलिखित लाभों को प्राप्त करने के अधिकार होंगे:

  • कर्मचारियों को उनके भविष्य निधि खाते में उनके वेतन के 12 फीसदी पर अतिरिक्त 2 फीसदी नियोक्ता का योगदान प्राप्त होगा। इससे पहले कर्मचारियों को 1925 के पीएफ अधिनियम के तहत कवर किया गया। इसके तहत भविष्य निधि में नियोक्ता और कर्मचारी का योगदान क्रमश: 10-10 फीसदी था।
  • अब कर्मचारियों पर ईपीएफ योजना 1952, ईपीएस 1995 और ईडीएलआई 1976 लागू होंगे।
  • कर्मचारियों को 1,000/- रुपये की गारंटी न्यूनतम पेंशन और कर्मचारी की मृत्यु के मामले में परिवार व आश्रितों को पेंशन उपलब्ध होगी।
  • सदस्य की मृत्यु के मामले में एक सुनिश्चित बीमा लाभ न्यूनतम 2.50 लाख रुपये से लेकर अधिकतम 7 लाख रुपये तक उपलब्ध होगा। इस लाभ के लिए ईपीएफओ के दायरे में आने वाले कर्मचारियों से कोई प्रीमियम नहीं लिया जाता है।
- Advertisement -

1952-53 से एयर इंडिया और इंडियन एयरलाइन्स दो अलग-अलग कंपनियां थीं, जिन्हें पीएफ अधिनियम- 1925 के तहत कवर किया गया था। 2007 में दोनों कंपनियों का एक कंपनी- एयर इंडिया लिमिटेड में विलय हो गया। पीएफ अधिनियम- 1925 के तहत इसके कर्मचारियों को भविष्य निधि का लाभ उपलब्ध था। लेकिन इनके लिए कोई वैधानिक पेंशन योजना या बीमा योजना नहीं थी। कंपनी के कर्मचारी स्वयं-अंशदायी वार्षिकी आधारित पेंशन योजना में अपना योगदान देते थे। इस योजना के मापदण्डों के आधार पर कर्मचारियों को जमा राशि का भुगतान किया जाता था। हालांकि, इसमें किसी सदस्य की मृत्यु के मामले में कोई न्यूनतम पेंशन गारंटी नहीं थी और कोई अतिरिक्त लाभ नहीं था।

- Advertisement -

READ THIS ALSO

Jharkhand Varta

Related Articles

Garhwa: गढ़वा में 20 दिवसीय राष्ट्रीय हस्त शिल्प मेला का शुभारंभ,55-60 स्टालों में लगे सामानों की करें खरीदारी

विकास कुमार/गढ़वा गढ़वा :-- गढ़वा जिला मुख्यालय के टाउन हॉल के मैदान में दुर्गा पूजा (दशहरा) पर्व के अवसर पर राष्ट्रीय हस्त शिल्प मेला हैंडलूम...

Ranchi: उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय ने ग्रामीण आरोग्य सेवा संस्था के कार्यालय का किया उद्घाटन,कहा आयुर्वेदिक पद्धति से कराए उपचार

रांची:-- राजधानी रांची के पिस्का मोड़ में शारदा बैटरी गली स्थित रंगोली होटल के पास ग्रामीण आरोग्य सेवा संस्थान(आयुर्वेदिक केंद्र) के कार्यालय का भव्य...

सिल्ली रेलवे स्टेशन पर लावारिस बैग मिलने से मचा हड़कंप

सिल्ली:- सिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या तीन पर लावारिस बैग मिलने से हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार प्रातः 6:30...
- Advertisement -

Latest Articles

Garhwa: गढ़वा में 20 दिवसीय राष्ट्रीय हस्त शिल्प मेला का शुभारंभ,55-60 स्टालों में लगे सामानों की करें खरीदारी

विकास कुमार/गढ़वा गढ़वा :-- गढ़वा जिला मुख्यालय के टाउन हॉल के मैदान में दुर्गा पूजा (दशहरा) पर्व के अवसर पर राष्ट्रीय हस्त शिल्प मेला हैंडलूम...

Ranchi: उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय ने ग्रामीण आरोग्य सेवा संस्था के कार्यालय का किया उद्घाटन,कहा आयुर्वेदिक पद्धति से कराए उपचार

रांची:-- राजधानी रांची के पिस्का मोड़ में शारदा बैटरी गली स्थित रंगोली होटल के पास ग्रामीण आरोग्य सेवा संस्थान(आयुर्वेदिक केंद्र) के कार्यालय का भव्य...

सिल्ली रेलवे स्टेशन पर लावारिस बैग मिलने से मचा हड़कंप

सिल्ली:- सिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या तीन पर लावारिस बैग मिलने से हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार प्रातः 6:30...

सिल्ली, मुरी आसपास के क्षेत्रों में दुर्गा पूजा को लेकर पंडालों का निर्माण जोरों पर

सिल्ली :-सिल्ली, मुरी आसपास के क्षेत्रों में दुर्गा पूजा को लेकर पंडालों का निर्माण जोरों पर किया जा रहा है। वहीं मूर्तिकार...

बिशुनपुरा के सनराइज एकेडमी के आठवीं और नवीं कक्षा का परिणाम सफल,कई बच्चों ने मारी बाजी

अजीत कुमार रवि/बिशुनपुराबिशुनपुरा:-- प्रखंड मुख्यालय स्थित सनराइज एकेडमी के आठवीं और नवीं कक्षा का परिणाम पत्र की घोषणा हो गई। जिसमें लगभग लगभग बच्चों...