कर्फ्यूग्रस्त लोहरदगा में आन, बान और शान से लहराया तिरंगा

0

रांची : पिछले दिनों लोहरदगा में नागरिकता संशोधन बिल के समर्थन में निकली शांतिपूर्वक निकली रैली पर पथराव और लाठी-डंडे से पिटाई की घटना के बाद लागू कर्फ्यू में आज गणतंत्र दिवस के मौके पर लोगों को खरीददारी करने और ध्वजारोहण करने के लिए कर्फ्यू में 2 घंटे की ढील दी गई।

लोहरदगा जिला प्रशासन की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार ढील सुबह 10 बजे से दोपहर 12 तक महज पांच थाना क्षेत्र के लोगों को दी गई। साथ ही कुछ बंदिशें फिर लागू थी जैसे चार से अधिक लोगों के एकत्रित होने और नारेबाजी करने की अनुमति नहीं थी।उसमें कहा गया कि गणतंत्र दिवस मनाने को इच्छुक लोग ध्वजारोहण कर राष्ट्रीय गान गा सकते है. इसके लिए 10 से अधिक लोगों को एकत्रित होने की अनुमति नहीं थी।

उपायुक्त आकांक्षा रंजन के द्वारा झंडोतोलन किया गया इस मौके पर एसपी प्रियदर्शी आलोक और पुलिस महकमे के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। उपायुक्त के परेड की सलामी लेने के बाद फिर से कर्फ्यू लग गया।

वही दूसरी ओर रांची से जारी प्रेस विज्ञप्ति में लोहरदगा में स्थिति सामान्य रहने की बात बताई गई है और बताया गया कि 15 सुरक्षाबलों की अतिरिक्त कंपनियां किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है शहर में फ्लैग मार्च जारी है चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है।

रांची जोनल इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस, आईजी(ऑपरेशन्स), रेंज डीआईजी (रांची) और पांच एसपी रैंक के अधिकारी लोहरदगा में मौजूद हैं जो स्थिति सामान्य बनाने के लिए प्रयासरत हैं और सभी गतिविधियों पर पैनी नजर रखे हुए है।