कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर झारखंड सरकार ने जारी की गाइडलाइन

0

स्वास्थ्य सचिव केके सोन ने कहा है कि जिन क्षेत्रों में ज्यादा मरीज मिल रहे हैं, वहां प्राथमिकता के आधार पर ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण कराएं, ताकि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को रोका जा सके। साथ ही जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है, उनकी सघन कांटैक्ट ट्रेसिंग करते हुए संपर्क में आने वालों की जांच जरूर कराएं एवं पॉजिटिव पाए गए मरीजों की ट्रैवल हिस्ट्री भी लें। स्वास्थ्य सचिव बुधवार को रांची समाहरणालय के सभागार में जिले में कोरोना की जांच, उपचार व टीकाकरण आदि की व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। एनएचएम, झारखंड के अभियान निदेशक रविशंकर शुक्ला ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के द्वारा कोविड टेस्टिंग (ट्रूनेट, आरटीपीसीआर, रैट) की वर्तमान स्थिति की जानकारी दी। बैठक के दौरान कांटेक्ट ट्रेसिंग और ऑक्सीजन बेड आदि की व्यवस्था भी सुदृढ़ करने को कहा गया। बैठक में एसएसपी, डीडीसी, रिम्स सुपरिटेंडेंट, सिविल सर्जन समेत जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

बाहर से आने वालों की जांच सुनिश्चित करने की हिदायत

राज्य में बढ़ते संक्रमण को लेकर सचिव ने बाहर से आने वालों की जांच हर हाल में सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इसके लिए उन्होंने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व एयरपोर्ट पर सैंपल कलेक्शन की व्यवस्था सुदृढ़ करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि विगत एक सप्ताह में जिस प्रकार संक्रमण में वृद्धि हुई है, आवश्यक है कि रांची को ध्यान में रखते हुए पूरे राज्य में इसके नियंत्रण के संबंध में कार्य किए जाएं। रांची इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि हमारे स्वास्थ्य संस्थान में राज्य के अन्य जिलों से भी लोगों का आना होता है। ऐसे में यहां की व्यवस्था को चुस्त रखना जरूरी है।