जन्मदिन विशेष : मुख्यमंत्री ने झारखंड के दो बड़े स्तम्भों को दी शुभकामनाये।

0

रांची : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने नई दिल्ली से अपने एक संदेश में कहा कि झारखंड अलग राज्य दिलाने में अग्रणी भूमिका निभाने वाले दिशोम गुरु एवं पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन को नमन करते हुए उन्हें उनके जन्मदिन पर ढेर सारी शुभकामनाएं देता हूं। बतौर मुख्यमंत्री यह विश्वास दिलाता हूं कि उनके स्वप्नों के झारखण्ड का निर्माण हम करेंगे।

जिस उद्देश्य से झारखण्ड अलग राज्य की स्थापना हुई, उस उद्देश्य को पूरा करूँगा

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि दिशोम गुरु शिबू सोरेन ने जल, जंगल, जमीन, आदिवासियों, पिछड़ों, वंचितों, दलितों और झारखण्ड वासियों के कल्याण के लिए, उनकी समृद्धि के लिए अपनी आवाज को बुलंद किया था, जिसके परिणाम स्वरूप हमें झारखण्ड अलग राज्य के रूप में मिला। उन्होंने कहा कि झारखंड के सतत विकास में उनका मार्गदर्शन मुझे प्राप्त होता रहेगा। जिस उद्देश्य से झारखण्ड अलग राज्य की स्थापना हुई, उस उद्देश्य को अवश्य प्राप्त कर सकेंगे। श्री सोरेन ने कहा कि समस्त झारखण्ड वासियों की ओर से उनके बेहतर स्वास्थ्य और दीर्घायु होने की कामना भी करता हूँ।

प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मराण्डी को भी दी जन्मदिन की शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री ने झारखण्ड के प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मराण्डी को भी उनके जन्मदिन की शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि वे राज्य के वरिष्ठ नेता हैं, उनके उत्तम स्वास्थ्य और दीर्घायु होने की कामना के साथ उनके सतत मार्गदर्शन से हमें अपने लक्ष्य को हासिल करने में दृढ़ता मिलेगी।

दोनों झारखंड के दो बड़े स्तंभ

आपको बता दें कि दिशोम गुरु शिबू सोरेन, झारखंड आंदोलन के प्रणेता रहे हैं। वहीं बाबूलाल मरांडी राज्य के पहले मुख्यमंत्री बने। ये दोनों झारखंड के दो बड़े स्तंभ हैं। कुछ दिनों पहले बाबूलाल मरांडी ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा को निशर्त समर्थन दिया था परन्तु अभी उनके बीजेपी में शामिल होने की चर्चा जोरो पर है।