जहां कुत्ते श्मशान घाट में अधजली लाश को खाते हुए दिख रहे हैं

0

खबर:-प्रविन्द पाण्डे

सिल्ली:- श्मशान घाट में मानवता शर्मसार होते हुए दिखाई दे रहा है। यह घटना मुरी ओपी थाना क्षेत्र का है। जहां मुरी स्वर्णरेखा श्मशान घाट में जहां कुत्ते श्मशान घाट में अधजली लाश को खाते हुए दिख रहे हैं वहीं इलाके के लोगों का कहना है कि यहां पर कोरोना मरीजों का शव जलाया जाता है। जो लाश पूरी तरह जल नहीं पाती, उन अधजली लाशों के टुकड़े को कुत्ते खाते रहते हैं। इलाके के लोगों का कहना है कि कभी कहीं हाथ पड़ा मिलता है, कभी पैर तो कही खोपड़ी पड़ी मिलती है। एक दिन पूर्व में भी अखबार के माध्यम से प्रशासन को अवगत कराया गया था परंतु अब तक इस और कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जिसके कारण श्मशान घाट में सही तरीके से व्यवस्था नहीं की जा रही है। कोरोना मृतकों के अंतिम संस्कार में लापरवाही बढ़ता जा रहा है। जिले के और भी श्मशान घाटों में जब कोरोना संक्रमित शव का अंतिम संस्कार खत्म होता है, उस जगह को साफ कराया जाता है। डेड बॉडी को बैग पैक के साथ भेजा जाता है। परंतु यहां के श्मशान घाट पर ना ही बॉडी पैक रहता है। खुले बदन में ही लाश दिखाई पड़ता है। हालांकि इस इलाके के लोगों का कहना है कि यहां कोरोना संक्रमित डेड बॉडी का अंतिम संस्कार ना किया जाए। सरकार के नियमों के अनुसार सभी श्मशान घाट में कोरोना प्रोटोकॉल के साथ अंतिम संस्कार होना है। परंतु यहां पर घोर लापरवाही बरती जा रही है। इस संबंध में सिल्ली अंचल अधिकारी से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना है तो जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।