जाम से निजात पाने के लिए अधिकारियों और व्यवसायियों की बैठक

0

मंझिआव : बाजार क्षेत्र के विभिन्न मुख्य सड़कों पर जाम से निजात दिलाने के लिए सोमवार को थाना प्रभारी रणविजय नारायण सिंह के द्वारा आयोजित स्थानीय व्यवसायियों की बैठक हुई। जिसकी अध्यक्षता नगर पंचायत अध्यक्ष सुमित्रा देवी ने किया। बैठक में मुख्य रूप से बाजार पथ में हो रही जाम पर विशेष चर्चा की गई। व्यवसायियों ने अपने अपने मंतव्य प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष रखा। मौके पर प्रशासनिक अधिकारी एसडीपीओ बहामन टुटी मौजूद थे। इसके अलावा पुलिस निरीक्षक हरि किशोर मंडल, नगर पंचायत कार्यालय के कार्यपालक पदाधिकारी सह बीडीओ अमरेन डांग, अंचलाधिकारी राकेश सहाय एवं स्वास्थ्य प्रभारी डॉक्टर कमलेश कुमार समेत काफी संख्या में व्यवसायियों ने बैठक में भाग लिए। बैठक में सबसे बड़ा मुद्दा जाम से निपटने एवं बालू के अभाव पर विशेष प्रकाश डाला गया। अंचलाधिकारी राकेश सहाय ने सभी व्यवसायियों को निर्देश दिया कि 48 घंटे के अंदर मार्ग के दोनों किनारे अवस्थित नाली पर से हट जाएं अन्यथा कानूनी करवाई किया जाएगा। प्रशासनिक अधिकारियों ने जाम से निपटने के लिए कई फार्मूले ढूंढे है।साथ ही तत्काल पुरानी नगर पंचायत कार्यालय के समीप अस्थाई टेंपो स्टैंड अवस्थित करने पर सहमति जताई। इसके बाद बस स्टैंड के लिए पुराना अस्पताल परिसर का भी जायजा लिया।

लेकिन विभागीय अड़चन बताकर संबंधित विभाग के अधिकारियों के नाम से पत्राचार करने पर सहमति जताई गई। दूसरा विकल्प बाईपास सड़क के मार्ग से दो पहिए एवं चार पहिया वाहन का परिवहन कराने की बात कही गई। जिससे कुछ हद तक सड़क जाम से राहगीरों को राहत मिल सके। इसके अलावे व्यवसायियों ने बालू के अभाव पर चर्चा की इस पर अंचलाधिकारी राकेश सहाय ने बताया कि कुछ बालू माफिया ऐसे हैं जो आम जनता के आड़ में बालू का कारोबार कर अपना पेट भरने का काम करते हैं। ऐसे लोगों को चिन्हित करते हुए कार्रवाई करने की बात कही गई। कहा कि जरूरतमंद लोगों को बालू उपलब्ध कराने के लिए संबंधित विभाग से वार्तालाप की जाएगी।

ज्ञात हो कि मुख्य बाजार के सड़कों पर अतिक्रमण की समस्या नासूर बन चुकी है। कई स्थानों पर हर समय जाम के हालात बने रहते हैं। फुटपाथ दुकानदारों द्वारा सरकारी नालियों पर अपना अतिक्रमण कर कब्जा कर लिया गया है। कई बार तो यह अतिक्रमण सड़क दुर्घटनाओं का कारन तक बन जाता है। इसलिए अतिक्रमण की समस्या जाम की जड़ है। यहां तक कि कई बार अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया लेकिन अभियान थमते ही फिर से फुटपाथ व्यवसायियों द्वारा अतिक्रमण का कब्जा हो जाता है। अब देखना यह है कि अतिक्रमण हटाओ अभियान कितना कारगर होती है। मौके पर कमला सिंह, अशोक कमलापुरी, अजय कुमार जायसवाल, बलराम मेहता, शंकर सोनी, अनिल कमलापुरी, विजय जॉनसन, सूरज जायसवाल, संतोष कुमार जयसवाल, आमीन राजाराम, समेत काफी संख्या में व्यवसाई के अलावे थाना प्रभारी रणविजय नारायण सिंह, मुनेश्वर विरोधी, विवेक पंडित एवं सुरेश राम आदि लोग मौजूद थे।

मंझिआव से सहयोगी सरिता देवी के साथ ब्यूरो रिपोर्ट झारखंड वार्ता।