झारखंड के हजारीबाग में दूसरा कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

0

रांची: झारखंड में कोरोना का दूसरा पॉजिटिव मामला सामने आया है। जो कि हजारीबाग का रहने वाला बताया जाता है। इससे पहले हिन्दपीढ़ी से पकड़ी गयी मलेशिया की एक महिला कोरोना पॉजिटिव पायी गयी थी। वह दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के जलसे में शामिल होकर आयी थी।यह झारखंड का पहला कोरोना पॉजिटिव मामला था।\nराज्य के स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी एवं शख्स के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट की जांच करने वाले रिम्स के माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉक्टर मनोज कुमार ने शख्स के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की है|\n बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के आसनसोल में रहकर काम करता था| देश भर में लागू 21 दिनों के लॉक डाउन के दौरान वह शख्स पैदल ही कोलकाता से हजारीबाग लौटा था| इसके बाद इसका जांच के लिए 31 मार्च को सेम्पल रिम्स भेजा गया था| जहां आज रिपोर्ट में शख्स के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है| कोरोना पॉजिटिव शख्स को क्वारंटाइन में रखा गया है।

खबरों के अनुसार राज्य में अब तक कोरोना के 421 संदिग्धों की जांच हुई है जिसमें दो मरीज पॉजिटिव पाये गये हैं। बुधवार को कोरोना के 70 संदिग्ध मरीजों के सैंपल लिये गये थे।इनमें से 69 संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव आयी थी।सबकी जांच हो रही है।जिन मरीजों के सैंपल लिये गये थे उन्हें रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।\nझारखंड में कुल 9039 व्यक्तियों को क्वारेंटाइन किया गया है. राज्य में 37378 बेड को क्वारेंटाइन के लिए तैयार किया गया है।\nझारखंड वार्ता की अपील\nझारखंड वार्ता आपसे अपील करता है कि आप लॉक डाउन का पूर्णतया पालन करें घरों में रहे ताकि अपने को बचा सकें और अपने परिवार की भी रक्षा कर सकें इस तरह आप एक सच्चे देशभक्त बन सकते हैं अपने परिवार के साथ साथ समाज और देश को कोरोना वायरस के खतरे से बचा सकते हैं बचाव ही कोरोना वायरस का एक मात्र उपाय है। सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का भी साथ में पालन करें बार-बार हाथ धोते रहें साफ सफाई का ध्यान रखें।वह कोलकाता में एक शादी समारोह में शामिल होकर लौटा है।रिम्स प्रशासन ने इस बात की पुष्टि कर दी है

बता दें इससे पहले हिन्दपीढ़ी से पकड़ी गयी मलेशिया की एक महिला कोरोना पॉजिटिव पायी गयी थी। वह दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के जलसे में शामिल होकर आयी थी।यह झारखंड का पहला कोरोना पॉजिटिव मामला था।

राज्य के स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी एवं शख्स के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट की जांच करने वाले रिम्स के माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉक्टर मनोज कुमार ने शख्स के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की है|

बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के आसनसोल में रहकर काम करता था| देश भर में लागू 21 दिनों के लॉक डाउन के दौरान वह शख्स पैदल ही कोलकाता से हजारीबाग लौटा था| इसके बाद इसका जांच के लिए 31 मार्च को सेम्पल रिम्स भेजा गया था| जहां आज रिपोर्ट में शख्स के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है| कोरोना पॉजिटिव शख्स को क्वारंटाइन में रखा गया है।

खबरों के अनुसार राज्य में अब तक कोरोना के 421 संदिग्धों की जांच हुई है जिसमें दो मरीज पॉजिटिव पाये गये हैं। बुधवार को कोरोना के 70 संदिग्ध मरीजों के सैंपल लिये गये थे।इनमें से 69 संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव आयी थी।सबकी जांच हो रही है।जिन मरीजों के सैंपल लिये गये थे उन्हें रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

झारखंड में कुल 9039 व्यक्तियों को क्वारेंटाइन किया गया है. राज्य में 37378 बेड को क्वारेंटाइन के लिए तैयार किया गया है।

झारखंड वार्ता की अपील

झारखंड वार्ता आपसे अपील करता है कि आप लॉक डाउन का पूर्णतया पालन करें घरों में रहे ताकि अपने को बचा सकें और अपने परिवार की भी रक्षा कर सकें इस तरह आप एक सच्चे देशभक्त बन सकते हैं अपने परिवार के साथ साथ समाज और देश को कोरोना वायरस के खतरे से बचा सकते हैं बचाव ही कोरोना वायरस का एक मात्र उपाय है। सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का भी साथ में पालन करें बार-बार हाथ धोते रहें साफ सफाई का ध्यान रखें।