झारखंड पुलिस ने अलग-अलग जगहों से 12 शक्तिशाली केन बम किया बरामद, वरना….

0

रांची: लातेहार जिले में 8 केन बम समेत विस्फोट में इस्तेमाल की जाने वाली कुछ सामग्री और कराईकेला थाना क्षेत्र के जोजोदगड़ा के समीप नक्‍सलियों के द्वारा सुरक्षाबलों को भारी नुकसान पहुंचाने के मकसद से सड़क पर बिछाए गए पांच शक्तिशाली आइईडी केन बम सीआरपीएफ की टीम ने बरामद कर नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

खबरों के अनुसार पश्चिमी सिंहभूम के नक्सल प्रभावित बंदगांव इलाके में नक्‍सलियों की योजना सुरक्षा बलों को उड़ाने की थी। इसके लिए नक्‍सलियों ने सड़क पर पांच शक्तिशाली केन बम बिछा रखे थे। सीआरपीएफ की टीम ने सर्च ऑपरेशन के दौरान सड़क पर बिछाए गए पांच शक्तिशाली आइईडी केन बमों को गुरुवार को बरामद किया। इसके बाद इलाके में पुलिस व सीआरपीएफ की टीम की नक्‍सलियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन जारी रहने की खबर है।

दूसरी ओर लातेहार एसपी प्रशांत आनंद को गुप्त सूचना मिली थी कि पुलिस को नुकसान पहुंचाने के नीयत से लगाये गये 8 शक्तिशाली बम गारू प्रखंड के जामझरिया बकुलाबंध जंगल में नक्सलियों के द्वारा भूमि में छिपाए गए थे। जिन्हें सीआरपीएफ की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर बरामद कर लिया है। इनमें 5-5 किलो के पांच टिफिन बम, 3 किलो के एक कुकर बम, एक किलो के दो केन बम शामिल हैं. मौके से 10 किलो अमोनियम नाईट्रेट पाउडर भी शामिल है। जो बम बनाने में इस्तेमाल होता है।

खबरों के मुताबिक एसपी के निर्देश पर सीआरपीएफ-214ए बटालियन के जवानों ने डोमाखाड और बकुलाबंध एवं इससे सटे जामझरिया जंगल में सर्च अभियान चलाया। बरामद बमों को सीआरपीएफ के बम निरोधक दस्ते ने मौके पर पहुंचकर डिफ्यूज कर दिया।

इधर सीआरपीएफ 214ए के सहायक समादेष्टा अनिल कुमार मीना ने बताया कि ये बम काफी शक्तिशाली थे।

बहरहाल इतनी अधिक मात्रा में शक्तिशाली के बमों के बरामद होने से चर्चा है कि नक्सली पुलिस पर भारी हमला करने की फिराक में है फिलहाल तो पुलिस ने इसे टाल दिया है।