झारखंड में पूर्ण लॉकडाउन, CM ने बैठक के बाद लिया बड़ा निर्णय, ये हैं Guideline

0

रांची: झारखंड सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाएगा। 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाया जाएगा। बता दें कि 22 अप्रैल सुबह 6 बजे से लॉकडाउन लगाया जा रहा है। अधिकारियों ने 48 घंटों का समय मांगा था। इसलिए 22 अप्रैल से लॉकडाउन होगा नहीं तो आज से ही लॉकडाउन प्रभावी होता। कई रियायतों के साथ लॉकडाउन लगाया गया है। रांची, पूर्वी सिंहभूम, धनबाद, बोकारो, कोडरमा, सरायकेला, हजारीबाग समेत वैसे जिले जहां संक्रमण ज्यादा है, वहां पहले से लॉकडाउन लगाने की बात उठ रही थी।

ये लॉकडाउन 8 दिन तक का होगा। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास पर सीएम हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में मुख्य सचिव के साथ बैठक हुई। इस बैठक में सभी विभागों के सचिव भी मौजूद रहे। सूबे में आज लॉकडाउन लगाने को लेकर मंथन किया गया। अभी औपचारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन कोरोना के विकराल रूप को देखते हुए सरकार के पास लॉकडाउन लगाने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं दिख रहा था।

बता दें की लॉकडाउन में केवल आवश्यक सेवाओं पर छूट रहेगी, वहीं दुकानों को बंद रखने से लेकर लोगों की आवाजाही पर रोक लग सकती है. पिछले दिनों सर्वदलीय बैठक के अलावा सरकार के घटक दलों की ओर से लॉकडाउन की मांग उठ रही है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रविवार को कड़े फैसले लेने के संकेत दिए थे.

1. आवश्यक सामग्री की दुकानों को छोड़कर अन्य सभी दुकाने बंद रहेंगी।

2. भारत सरकार, राज्य सरकार तथा निजी क्षेत्र के चिन्हित कार्यालय को छोड़ सभी कार्यालय बंद रहेंगे।

3. कृषि, औद्योगिक, निर्माण एवं खनन कार्य की गतिविधियां चलती रहेंगी।

4. धार्मिक स्थल खुले रहेंगे परन्तु श्रद्धालुओं की उपस्थिति प्रतिबंधित रहेगी।

5. कोई भी व्यक्ति अनुमति प्राप्त कार्यों को छोड़कर अपने घर से बाहर नहीं निकलेगा।

6. 5 से अधिक व्यक्तियों का कहीं भी एकत्रित होना वर्जित रहेगा।