टड़हे में हो रहे पथ निर्माण की गुणवत्ता जांचने पहुंचे एसडीओ और विधायक

0

खबर.सरिता देवी

मझीआंव(गढ़वा) : प्रखंड क्षेत्र के टड़हे सिवाना से भाया कसया नाला होते हुए भैंसाखाड़़ गांव तक आर.ई ओ विभाग से निर्माण कराए गए और कराए जा रहे कालीकरण व पीसीसी पथ की गुणवत्ता की जांच झारखंड विधानसभा अनागत प्रश्न क्रियान्वयन समिति के चेयरमैन सह क्षेत्रीय विधायक रामचंद्र चंद्रवंशी अपने 6 सदस्यो के साथ पथ की गुणवत्ता की जांच की।

इस मौके पर गढ़वा अनुमंडल पदाधिकारी जियाउल अंसारी व विभागीय कार्यपालक पदाधिकारी विजय अग्रवाल अपने सहायक व कनीय अभियंता के साथ जांच टीम में मौजूद थे। जांच टीम के दौरान चेयरमैन रामचंद्र चंद्रवंशी ने पथ की गुणवत्ता से असंतुष्ट होकर मौके पर मौजूद अधिकारियों को कड़ी डांट फटकार पिलाई। और कहा कि पथ की गुणवत्ता की जांच विजिलेंस से करवाई जाएगी। और जांच उपरांत दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों पर विभागीय कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

इस दौरान जांच कमेटी के सदस्यों ने कसया नाला पर बने पुल की गुणवत्ता की भी जांच की। जिसमें लगाई गई घटिया सामग्री देखी। पुल व पथ की दुर्दशा को देखकर जांच कमेटी के सदस्यों ने कहा की पथ व पुल निर्माण के दौरान संवेदक और संबंधित विभाग के अभियंताओं की मिलीभगत से घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया है। जो भरभरा कर टूट रही है। ज्ञात हो कि पिछले वर्ष अपने मंत्री कार्यकाल में रामचंद्र चंद्रवंशी ने टड़हे सिवाना से कसया नाला होते हुए भैंसाखांड़ गांव तक लगभग 2 करोड़ 43 लाख रुपए की लागत से पीसीसी व काली करण पथ का शिलान्यास किया था। और कार्य देश मिलते ही संवेदक पीसीसी पथ बनाना चालू किया था। इस दौरान गांव के ग्रामीणों ने पथ में घटिया सामग्री लगाया जाने का पुरजोर विरोध किया था।

शिकायत क्षेत्रीय सत्ताधारी जनप्रतिनिधि रामचंद्र चंद्रवंशी से शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत के आलोक में गुरुवार को चेयरमैन अपने 6 सदस्य टीम के साथ जांच करने पहुंचे हुए थे। जांच टीम के सदस्यों ने बताया कि पथ निर्माण विभाग के द्वारा मानक के विपरीत काम किया गया है। इधर जांच टीम के चेयरमैन रामचंद्र चंद्रवंशी ने बताया कि पथ की गुणवत्ता को लेकर ग्रामीणों द्वारा ढेरों शिकायतें मिल रही थी। उन्होंने मौके पर मौजूद संबंधित विभागीय अधिकारियों से पूछा कि अभी तक कितने का कार्य हुआ है ।और कितना भुगतान हुआ है । इसका अभिलंब प्रतिवेदन झारखंड विधान सभा अनागत प्रश्न क्रियावयवन समिति को सौंपने का निर्देश दिया है। कहा कि जांच उपरांत दोषी पाए जाने वाले अभियंताओं को बख्शा नहीं जाएगा। वही मझीआंव व बिशनपुरा सड़क की दुर्दशा को देखकर पथ निर्माण विभाग के सहायक अभियंता सुनील कुमार को कड़ी फटकार लगाई और सड़क की दुर्दशा के संबंध में पूछा सहायक अभियंता सुनील कुमार चुप हो गए। इस पर उन्हें भी फटकार लगाई।

इधर मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने नाहर निर्माण की ओर ध्यान आकृष्ट कराया तो जांच टीम के चेयरमैन ने कहा कि मेरे एजेंडा में नहीं है। अगर गांव के लोग शिकायत दर्ज कराते हैं तो नाहर निर्माण का भी जांच कराई जाएगी। मौके पर पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक पदाधिकारी विजय अग्रवाल .सहायक अभियंता सुनील कुमार समेत कई विभागीय कनीय अभियंता व भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता चंचल दुबे, उमाशंकर यादव, पवन कुमार, संजय प्रसाद कमलापुरी, संजन सिंह आदि लोग मौजूद थे।