टाटा एडीईएन ऑफिस सुपरिटेंडेंट की कोरोना से मौत,ओबीसी रेल एसोसिएशन आक्रोशित

0

टाटा रेल अस्पताल में सभी सुविधाओं से लैस डेडीकेटेड कोविड आइसोलेशन सेंटर बनाने की मांग

जमशेदपुर: टाटानगर के ADEN Office के कार्यालय अधीक्षक श्री सुनील पांडे के मौत के बाद देर रात टाटा से स्थानांतरण के बाद झारसुगङा में पदस्थापित लोको पायलट सोनारी निवासी रविन्द्र कुमार,उम्र 40 का कोरोना से टी एम एच में मौत होने पर ओबीसी रेलवे ईम्पलाईज एसोसिएशन इन दोनों कर्मठ कर्मचारी की असामयिक मृत्यु पर गहरी संवेदना प्रकट किया। साथ ही पिछले दिनों टाटा में चंद्रमा सिंह, छोटु मुखी,निर्मल साहु, सुनील पांडे,रविन्द्र कुमार आदि करीब आधा दर्जन से अधिक व डिवीजन भर में दर्जन भर से ज्यादा मौतों को गंभीरता से लिया है। एसोसिएशन ने इन मौतों को रेलवे प्रशासन पर लापरवाही, खासकर बेहतर मेडिकल सुविधा के अभाव का आरोप लगाया है और स्थिति की गंभीरता को देखते हुये रेल प्रशासन से मांग की है कि कोई ठोस ऐक्शन प्लान बनाकर कर्मचारियों की जान की रक्षा करें। टाटानगर रेल अस्पताल में आक्सीजन सिलिंडर, वेंटीलेटर,दवायें आदि सुविधाओं से लैश डेडिकेटेड कोविड आइसोलेशन सेन्टर तत्काल बनाएं। इसके लिए संगठन जल्द ही रेल प्रशासन के वरीय पदाधिकारियों को पत्र लिखेगा।

रेलवे ओबीसी रेलवे ईम्पलाईज एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष सागर प्रसाद ने कहा कि रविन्द्र कुमार ने हल्की तबियत खराब होने पर छुट्टी मांगी थी पर छुट्टी नहीं मिलने से उनकी तबियत गंभीर हो गई और तब उन्होनें आनन फानन में अपने खर्च पर टीएमएच में भर्ती हुये जहाँ उनकी मृत्यु हो गई।

सागर प्रसाद ने कहा कि रेलकर्मचारी अपनी जान पर खेलकर भी कोरोना वारियर के रुप में रेलवे का परिचालन कर देश की जनता को मदद पहुँचा रही है। पर दुर्भाग्यवश रेलवे प्रशासन की लापरवाही, खासकर बेहतर मेडिकल सुविधा के अभाव में कहीं न कहीं कर्मचारी लगातार कोरोना के काल के गाल में समा रहे हैं।

सागर प्रसाद ने कहा कि वैक्सीनेशन का समुचित अनुपात में वैक्सीन उपलब्ध करके तेजी से वैक्सीनेशन कराये। कार्यस्थल व रेल कालोनियों को नियमित सैनिटाईज कराये। बीमार होने पर जरुरत अनुसार बिना किसी की पैरवी व दबाव के तत्काल टाटा मोटर्स व अन्य बेहतर अस्पताल में तुरंत रेफर करे। कोरोना से मृत्यु होने पर कर्मचारी को अलग से 50 लाख रुपये का विशेष अनुकंपा राशि(कंपनशेसन)दे।

बता दें कि आज रेलवे संस्थान में मात्र 100 लोगों को वैक्सीन लगा जबकि भीङ काफी थी।