ट्रेनों में अब ऐसे यात्रियों की खैर नहीं, 31 मई से जाना पड़ सकता है जेल

0

नई दिल्ली:- अब से रेलवे की संपत्ति और सहयात्रियों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने वाले और उनकी जान जोखिम में डालने वाले रेल यात्रियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो सकती है और उन्हें जेल तक जाना पड़ सकता है। भारतीय रेलवे ने स्मोकिंग करने वाले रेल यात्रियों के खिलाफ एक बड़ी मुहिम की शुरुआत की है। यह अभियान ट्रेनों में ज्वलनशील पदार्थ लेकर चलने वाले लोगों के खिलाफ भी शुरू की जा रही है। अब रेलवे, ट्रेनों में या स्टेशन परिसरों में स्मोकिंग करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करेगा और मोटा जुर्माना भी वसूला जाएगा। रेलवे ने हाल में कुछ ट्रेनों में हुई आग लगने की घटनाओं के मद्देनजर यह कदम उठाया है।

कुछ जोन में हाल में ट्रेनों में आग लगने की घटनाओं को भारतीय रेलवे ने बहुत ही गंभीरता से लिया है। इन घटनाओं की वजह से ना सिर्फ रेलवे को करोड़ों रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है, बल्कि लोगों की जान भी जोखिम में पड़ी है। रेलवे के मुताबिक ऐसा लगता है कि ये घटनाएं ट्रेनों में स्मोकिंग करने या ज्वलनशील पदार्थों को लेकर चलने की वजह से हुई हैं। रेल मंत्रालय की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है, ‘ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए भारतीय रेलवे ने स्मोकिंग करने और ज्वलनशील पदार्थों को लेकर चलने के लिए बहुत बड़ा अभियान लॉन्च किया है।’ यह ड्राइव 22 मार्च, 2021 से ही शुरू किया जा चुका है। लेकिन, 31 मई, 2021 से इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ रेल मंत्रालय कानूनी कार्रवाई शुरू करने जा रहा है।