डायन का आरोप लगाकर की थी मार पिट, अब दे रहे जान से मारने की धमकी

0

मंझिआव : बरडीहा थाना कांड संख्या 24 ऑब्लिक 2020 के नामजद अभियुक्त अभी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है। इस संबंध में बरडीहा थाना क्षेत्र के गांव सलगा निवासी लालमुनी यादव की पत्नी घायल पिडी़ता महिला शारदा देवी ने बरडीहा थाना प्रभारी से सभी नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग की है।

ज्ञात हो कि पिछले 20 सितंबर 2019 को लाल मुनी यादव की पत्नी शारदा देवी ने अपने दो पुत्री के साथ देर शाम अपने वथान से पशुधन बांधकर अपने घर लौट रही थी इसी दौरान गांव के ही कामेश्वर यादव, इनकी पत्नी प्रभादेवी, एवं पुत्र संतोष यादव, लाल नाथ यादव, जितेंद्र यादव, वीरेंद्र यादव, सीताराम यादव एवं इनके परिजन द्वारा लाल मुनी यादव की पत्नी शारदा देवी पर डाइन का आरोप लगाकर मारपीट किया था। इस दौरान शारदा देवी को सर पर चोट के साथ अंदरूनी चोट आई थी। जिससे महिला बेहोश हो गई थी। उन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में उपचार के बाद बेहतर इलाज हेतु गढ़वा सदर अस्पताल भेज दिया गया था। उस वक्त दोनों में समझौता हो गया था। लेकिन समझौता का दरकिनार करते हुए दोबारा शारदा देवी को डायन बिसाही का आरोप लगाकर मारपीट की गई।

इधर घायल महिला शारदा देवी के परिजन विजय यादव द्वारा 7 लोगों के विरुद्ध नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी दर्ज के बाद भी अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की जा सकी। इधर घायल महिला शारदा देवी एवं उनके परिजन विजय यादव ने बताया कि अभियुक्त कामेश्वर यादव के साला मोती लाल यादव व अन्य नामजद अभियुक्तों ने मुकदमे को वापस लेने की धमकी बराबर दे रहे है। कह रहे हैं कि मुकदमा वापस लो अन्यथा जान से हाथ धोना पड़ेगा।

इस संबंध में दोबारा पुलिस अधीक्षक गढ़वा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी गढ़वा एवं स्थानीय थाना प्रभारी को अलग-अलग आवेदन देकर अविलंब गिरफ्तारी की मांग की गई है। इधर दिए गए आवेदन में उल्लेख किया गया है कि आरोपी कामेश्वर यादव का साला मोती लाल यादव द्वारा मुकदमे को वापस लेने के लिए बराबर धमकी दे रहा है। पत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि पूर्व के सभी आरोपियों ने दोबारा 12 अप्रैल 2020 की देर शाम लगभग 7:30 बजे डायन बिसाही एवं भूत प्रेत का आरोप लगाकर शारदा देवी को लाठी-डंडे से पीटकर घायल कर दिया गया था।

शारदा देवी को घायल अवस्था में स्थानीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज हेतु चिकित्सकों ने गढ़वा सदर अस्पताल भेज दिया गया था। इस संबंध में घायल द्वारा बरडीहा थाना में 7 लोगों को पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। लेकिन एक महीना बित जाने के बावजूद भी अभी तक थाना पुलिस द्वारा किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई। इधर गिरफ्तारी नहीं होने पर घायल शारदा देवी के परिजन काफी डरे सहमे हुए हैं। उन्होंने अलग-अलग प्रशासनिक पदाधिकारियों के पास आवेदन भेजकर अविलंब गिरफ्तारी करने एवं जानमाल की सुरक्षा करने की मांग की गई है। इधर इस संबंध में पूछे जाने पर बरडीहा थाना प्रभारी चुनवां उरांव ने बताया कि नामजद सभी आरोपियों को गिरफ्तारी करने के लिए बराबर छापामारी की जा रही है।