डायन का आरोप लगा परिजनों ने वृद्धा की निर्दयता से हत्या,साक्ष्य छुपाने के लिए लाश घसीट कुंए में फेंका

0

सरायकेला: कुचाई इलाके के मरांगहातु गांव में सोमवारी सोय नामक वृद्ध महिला की जमीन विवाद की आड़ में डायन का आरोप लगाकर काफी निर्दयता से हमला कर हत्या करने और साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से लाश को हाथ पैर बांधकर घसीटते हुए कुंए में डाल देने का मामला प्रकाश में आया है। गांव के लोगों ने पूरी घटना को देखते हुए पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों और मृतका के परिजनों के साथ मिलकर मृतका सोमवारी सोय की लाश कुआं से निकाली और उसे पोस्टमार्टम के लिये सरायकेला भेज दिया है। मृतका सोमवारी सोय के दोनों हाथ समेत कमर में रस्सी बांधी गयी थी। गले में बिजली का तार और गमछा लपेट दिया गया था। पुलिस ने मृतका के बेटे महेन्द्रलाल सोय के बयान पर कुचाई पुलिस ने उसके चाचा व चचेरे भाईयों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। आरोपी की तलाश में पुलिस लग गई है जबकि आरोपी फरार बताया जा रहा है।

खबरों के मुताविक मरांगहातु की 65 वर्षीय बुर्जूग महिला सोमवारी सोय आसपास कही से हड़िया पीकर घर आई. वह नशे की हालत में थी।उस समय उसकी बहू व बेटे दोनों घर में नहीं थे।हत्यारों ने सोमवारी के अकेले होने का फायदा उठाया और घर में घुसकर बुर्जूग विधवा महिला की रड से पीट-पीट कर हत्या कर दी।इसके बाद हत्या के साक्ष्य को छुपानें के लिए हत्यारों ने मृतक महिला के दोनो हाथ कमर से रस्सी से बांध दिये।गले में बिजली का तार और गमछा लपेटकर घसीटते हुए उसकी लाश रामायसाल सीमा क्षेत्र स्थित प्रेमलाल सोय के तलाब के समीप स्थित कुआ में फेक दिया।

.मृतक के पुत्र महेन्द्रर लाल सोय और दामाद के मुताबिक वर्षो से चाचा के साथ जमीन को लेकर विवाद चल रहा है।गांव में डायन बता कर चाचा के लड़कों ने ही कांड को अंजाम दिया है। मृतका के बेटे महेन्द्र लाल सोय का कहना है कि वे लोग अकसर मां को धमकी दिया करते थे। वे कहते थे कि बुढि़या कितने दिनों तक छुपकर रहोगी।