Advertisement

तीन राज्यों में नहीं लागू होगा नागरिकता संशोधन कानून!

- Advertisement -

(वार्ता स्पेशल):नागरिकता संशोधन बिल के लोकसभा व राज्यसभा में पास होने के बाद राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के पूर्वोत्तर क्षेत्रों के राज्यों में इसके खिलाफ जोरदार प्रदर्शन हो रहे हैं। गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों के उग्र रूप को देखते हुए गुरुवार देर रात पुलिस को स्थिति काबू करने के लिए कई राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी। इस घटनाक्रम में दो लोगों की मौत के साथ-साथ कई लोगों के घायल होने की खबर है। इसी बीच देश के 3 राज्यों ने अपने यहां नागरिकता संशोधन नया कानून को नहीं मानने और लागू नहीं करने का ऐलान किया है। देश में पश्चिम बंगाल, पंजाब और केरल शामिल हैं।

खबरों के मुताबिक पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक को लागू होने से रोकने के लिए पंजाब विधानसभा में जल्द ही एक प्रस्ताव भी लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि संसद के पास ऐसा कोई कानून पारित करने का अधिकार नहीं था। जिससे संविधान को परिभाषित किया जा सके। उन्होंने इस कानून को मूल सिद्धांतों और भारत के लोगों के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन बताया है।

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने नागरिकता संशोधन कानून राज्य में लागू नहीं किया जाएगा।असंवैधानिक विधेयक के लिए केरल में कोई जगह नहीं होगी और राज्य इसे लागू नहीं करेगा।

पश्चिम बंगाल सरकार भी इस कानून को लागू करने के पक्ष में नहीं दिखाई पड़ रही है। पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री डेरेक ओ ब्रायन ने केंद्र सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में एनआरसी और कैब दोनों लागू नहीं किए जाएंगे।

ममता बनर्जी ने इस कानून का नाम लिए बिना कहा है कि पश्चिम बंगाल में हम जाति, पंथ या धर्म के नाम पर कोई भेदभाव नहीं करते हैं। उन्‍होंने कहा कि हम लोगों में कभी फूट डालो, राज करो की नीति नहीं अपनाएंगे।

- Advertisement -

READ THIS ALSO

Jharkhand Varta

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles