थूकने के खिलाफ प्रदेश में पहली कार्रवाई, नर्स पर थूका, 2 गए जेल

0

रांची: सीएचसी की नर्स पर मदरसा के समीप बगल से गुजर रहे ट्रक खलासी गुटका खाकर थूक कर फरार हो गया था। इस मामले में नर्स के द्वारा बुधवार को चान्हो थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। इस मामले में चान्हो पुलिस ने कार्रवाई करते हुए स्कूटी सवार नर्स पर थूकने के आरोप में एक ट्रक के खलासी विकास सिंह व चालक श्रवण यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। झारखंड मे संभवत थूकने के खिलाफ यह पहली कार्रवाई है।

खबरों के अनुसार खलासी विकास सिंह पलामू लेस्लीगंज के ग्राम राजाहारा का एवं चालक श्रवण यादव उत्तरप्रदेश गाजीपुर के जबलपुर कला निवासी हैं।

नर्स के द्वारा दर्ज प्राथमिकी के अनुसार वह बुधवार को चार बजे ड्यूटी के बाद स्कूल से अपने घर लौट रही थी। रास्ते में मदरसा चौक के निकट उसके बगल से पार हो रहे एक ट्रक के खलासी ने गुटका खाकर अचानक थूक दिया, जिसके छींटे से नर्स का कपड़ा खराब हो गया। इसी दौरान हुई घटना में नर्स का कहना है कि रुकने का इशारा करने पर ट्रक तेजी से भाग निकला और पीछा करने पर लुकिंग ग्लास से देखकर उसके ऊपर चार पांच बार और थूका गया। बाद में नर्स ने मांडर में आकर इसकी सूचना पुलिस को दी। मांडर पुलिस ने पीछा कर ट्रक सहित खलासी व चालक को काठीटांड़ के निकट पकड़ लिया और ट्रक पकड़ कर मामले को चान्हो थाना को दिया गया। गेहूं लदा ट्रक गाजीपुर से टाटा जा रहा था।

गौरतलब है कि झारखंड सरकार ने कोरोना से बचाव को लेकर सार्वजनिक जगहों पर थूकने तथा तंबाकू, गुटखा, पान मसाला, सिगरेट एवं अन्य तंबाकू युक्त पदार्थों की बिक्री व उपयोग पर बैन लगा चुकी है। इसका उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 से 60 तथा आइपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी। इसके तहत दोषी व्यक्ति को एक हजार रुपये का अर्थदंड या कारावास की सजा हो सकती है।