6.1 C
New York
Tuesday, March 28, 2023

धोखेबाज चीन को भारी नुकसान, भारतीय मीडिया समेत अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने भी किया दावा, चुप क्यों है चीन जानें….!

एजेंसी: लद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार की रात भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में भारत ने अपनी सभी स्थिति स्पष्ट करते हुए और अपनी बात स्पष्टता से रखते हुए भारत के 20 जवान शहीद होने की पुष्टि कर दी है। इनमें संघर्ष के बीच घाटी में गिरने या नदी में गिरने और जमा देने वाली ठंड से 17 सैनिकों की मौत की पुष्टि की है।वहीं दूसरी ओर जिस तरह चीन ने एक और भारत के उच्च स्तर से बातचीत जारी रखा और भारत के पीठ में पीछे से सुनियोजित साजिश के तहत हमला किया लेकिन उसे भारत ने भी करारा जवाब दिया है। जिसके कारण चीन सच्चाई छुपा रहा है। उसकी मंशा कुछ और है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीनी सरकारी मीडिया दी ग्लोबल टाइम्स मीडिया ने पहले 5 चीनी सैनिकों के मारे जाने की बात कही थी लेकिन बाद में मुकरते हुए कहा कि उसने भारतीय मीडिया के हवाले से खबर दी थी। इस तरह नुकसान छिपाने के पीछे उसकी बहुत बड़ी मंशा है और बताया जा रहा है कि वह फिर एक नई रणनीति के तहत भारत के खिलाफ जंग छेड़े रखेगा क्योंकि उसने हिंसक झड़प में एक ओर तो धोखा बाजी फिर से एक बार किया और इस बार मुंह की खाई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन ने पूर्व युद्धाभ्यास भी किया है।

वहीं एएनआई भारतीय समाचार एजेंसी ने भी दावा किया है कि चीन के 43 सैनिक हताहत हुए हैं।बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ मौत हुई है और कुछ गंभीर रूप से घायल हैं।

वहीं दूसरी ओर अमेरिकी के USNews में छपी खबर के अनुसार अमेरिका इस पूरी स्थिति पर काफी गंभीरता से नज़र बनाए हुए है। भले ही चीन ने उसके नुकसान की कोई आधिकारिक पुष्टि न की हो लेकिन अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसियों ने भी माना है कि चीन का भारत से ज्यादा नुकसान हुआ है।ख़ुफ़िया एजेंसियों के मुताबिक इस झड़प में चीन के कम से कम 35 सैनिक हताहत हुए हैं। इनमें चीनी सेना का एक सीनियर अफसर भी शामिल हैं।

अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना के LAC पर चीनी चॉपर देखे गए हैं। बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद चीनी चॉपर्स की सीमा पर गतिविधियां बढ़ गई हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मारे गए सैनिकों के शव और घायलों के लेने के लिए चौपर्स झड़प वाले इलाके में आए थे।हालांकि चीनी सेना ये तो स्वीकार कर रही है कि इस झड़प में उसके कई सैनिक मारे गए हैं, लेकिन अभी तक उसने संख्या नहीं बताई है।

बहरहाल सच्चाई छुपाने में माहिर चीन फिर से एक बार युद्ध में मुंह की खाने के बाद कुछ अलग मनसा के तहत अपने नुकसान के बारे में सैनिकों के मारे जाने के बारे में खुलकर कहने से बच रहा है और संभावना व्यक्त की जा रही है कि वह अब दूसरे रणनीति के तहत फिर से जंग लड़ेगा क्योंकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन ने पूर्व युद्धाभ्यास भी शुरू किया है।

- Advertisement -

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles