नक्सल प्रभावित ग्रामीण इलाकों में सीआरपीएफ ने सिविक एक्शन प्रोग्राम के जरिये दिखाई मानवता

0

शिक्षा, स्वास्थ्य, खेलकूद से लेकर अन्य सुविधा ग्रामीणों को पहुंचाई

गुरुवार को चक्रधरपुर सीआरपीएफ 60 बटालियन के कमाण्डेन्ट, आनन्द कुमार जेराई के नेतृत्व में इस बटालियन के कार्यक्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले गांवों व स्कूलों में सिविक एक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया।

जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों को लाभ पहुँचाने एवं उनके शिक्षा के स्तर को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से लाईब्रेरी कम स्टडी सेन्टर (स्कूल), चक्रधरपुर, पश्चिमी सिंहभूम (झारखण्ड) में समान्य ज्ञान एवं अन्य शिक्षा से संबंधित किताबें बच्चों को उपलब्ध कराया गया। इस कार्यक्रम में 60 बटालियन के कमाण्डेन्ट, आनन्द कुमार जेराई, सचिव कोलहान एवं स्थानीय गणमान्य व्यक्तियों के साथ-साथ ग्रामीण भी शामिल हुए।

इस सामाजिक कार्य के दौरान पाश्चिम सिंहभूम जिले के टोकलो थाना के अन्तर्गत ग्राम झरझरा, डरकाडा, हरजोड़ा व टेबो इत्यादि क्षेत्र तथा सोनुआ थाना के अन्तर्गत ग्राम छोटा कुईरा क्षेत्र में आने वाले जरूरतमंद ग्रामीणों को दैनिक उपयोग हेतु वस्तुएँ (जैसे सोलर लाइट व रेडियोs), बच्चों को खेल व शिक्षा व खेलकूद से संबंधित वस्तुएं जैसे फुटबाल, वॉलीबाल व स्कूल बैग एवं महिलाओं को खाना बनाने से संबंधित बर्तन इत्यादि सामग्रियों का वितरण किया गया ताकि वहां के ग्रामीणों का दैनिक जीवन, बच्चों का शिक्षा का स्तर ऊंचा हो सकें एवं उनका मनोबल बना रहें।

इसके अतिरिक्त सोनुआ थाना के अन्तर्गत ग्राम छोटा कुईरा क्षेत्र में मेडिकल कैम्प का भी आयोजन किया गया जिसके तहत गामीणों का निःशुल्क स्वास्थ्य जांच किया गया एवं बीमारी से संबंधित दवाइयों का भी वितरण किया गया। उक्त कार्यक्रम में 60 बटालियन के द्वितिय कमान अधिकारी राजू डी. नायक, सहायक कमाण्डेन्ट, महाराणा बिरेन्द्र प्रताप सिंह, सहायक कमाण्डेन्ट, देश राज, जी.एच.एस दरकाडा के प्रधानाचार्य अरूण प्रधान एवं स्थानीय गणमान्य व्यक्तियों के साथ-साथ ग्रामिण भी शामिल हुए। इसके अलावा उच्च अधिकारियों द्वारा उपस्थित सभी गणमान्य व्यक्ति, ग्रामीण, विद्यार्थी एवं स्थानीय नागरिकों को उनके दैनिक जीवन एवं बच्चों के शिक्षा के स्तर को ऊंचा रखने हेतु एवं आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रोत्साहित किया गया।