नौ दिवसीय रामचरितमानस यज्ञ जागरण के साथ संपन्न

0

संवाददाता:-प्रविन्द पाण्डे

सिल्ली:- 27 मार्च सिल्ली प्रखंड के हरवाड़ीह गांव में आयोजित नौ दिवसीय रामकथा के जागरण के साथ संपन्न हो गया इन 9 दिनों में कथावाचक ने रामायण व रामचरितमानस के विभिन्न प्रसंगों पर प्रवचन किया। समापन यज्ञ में सिल्ली विधायक सुदेश कुमार महतो भी उपस्थित हुए।

व्यास आसन से प्रवचन करते हुए श्री श्री देवकी नंदन दास केसरी ने कहा कि श्रीरामकथा मानवता प्रदान करती है। मानवीय जीवन का संपूर्ण संस्कार रामचरितमानस में निहित है। इसका एक-एक प्रसंग मानव जीवन के लिए उपयोगी व अनुकरणीय है। वर्तमान परिपेक्ष्य में संस्कारों के अभाव में मानव पशुता को प्राप्त कर रहा है। ऐसे में रामचरित्र का अनुकरण करना आवश्यक है। तुलसी दर्शन में सत्संग को प्रयाग के समरूप कहा गया है। जहां से राम भक्ति रूपी गंगा, ज्ञानरूपी सरस्वती, कर्म रूपी यमुना का संगम समावेश होता है। अत: संत का संग करना परम आवश्यक है। पृथ्वी पर दो बातें दुर्लभ हो रहा है सत्संग एवं कथा। जिन पर प्रभु की कृपा होती है, उसी को भक्ति व सत्संग का अवसर मिलता है। सत्संग का सुख स्वर सुख से भी उत्तम है। चारों युग में श्री राम नाम का बड़ा महत्व रहा है पर कलियुग में इसका महत्व ज्यादा है। श्री राम नाम सुमिरण से गणेश जी प्रथम पूज्य हुए। प्रथम पूज्य हुए ध्रुव, प्रह्लाद आदि भक्तों ने भी राम नाम सुमिरण किया। राम नाम कलियुग में कल्प वृक्ष व कामधेनु है जिससे मनुष्य सब कुछ प्राप्त कर लेता है। लोगों ने भगवान श्रीराम का जयकारा लगाते हुए कथा का आनंद लिया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में राधेश्याम महतो परशुराम महतो शंकर महतो सुखदेव मुंडा प्रेम लोहरा परमेश्वर महतो समेत स्थानीय ग्रामीणों का सराहनीय योगदान रहा।