पंचायत का तुगलकी फरमान, परिजनों संग प्रेमी प्रेमिका की पिटाई, जबरन कराई शादी, जुर्माना भी वसूले

0

मंझिआंव : थाना क्षेत्र के भूसवा गांव के ग्रामीणों को कानून को हाथ में लेना महंगा पड़ा। यह वाक्य भूसवा गांव की है। गत बुधवार की दोपहर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पंचायती आयोजित कर प्रेम प्रसंग के मामले में तीन युवकों समेत उनके अभिभावक को जमकर पिटाई कर दी एवं जबरन जुर्माना का राशि वसूली किया। प्रेमी प्रेमिका के अनौपचारिक तरीके से शादी कराने का मामला भी प्रकाश में आया है।

इस संबंध में गुरुवार की देर शाम घायल रामपुर गांव निवासी धिरन विश्वकर्मा, पुत्र चंदन विश्वकर्मा दोनों बाप बेटा राकेश रजवार पिता मुनेश्वर रजवार, साजन रजवार पिता सुनेश्वर रजवार ने अपने परिजन के साथ थाना पहुंचे और सारी घटनाक्रम की जानकारी थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार को अवगत कराया। जबकि भूसवा गांव निवासी लड़की पक्ष के अभिभावक सोमारु रजवार अपनी लड़की के साथ थाना पहुंचे हुए थे। इधर थाना प्रभारी योगेंदर कुमार ने सारी वस्तु स्थिति से अवगत होते हुए बताया कि किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।

उन्होंने दिए गए आवेदन के आलोक में भूसवा गांव निवासी फरीद खां, इबरार खां समेत अज्ञात आधा दर्जन से अधिक लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है। इधर लड़की पक्ष के सोमारु रजवार ने बताया कि मेरे रिश्तेदार रामपुर गांव से साजन रजवार अपने दो साथियों के साथ हमारे घर आए हुए थे इसी दौरान गांव वालों को शंका हुई, इसके बाद गांव वालों ने पंचायती आयोजित कर जबरन मेरी लड़की एवं रामपुर गांव निवासी सुनेशवर रजवार के पुत्र साजन के द्वारा सिंदूर लगवाई गई और जुर्माने के तौर पर मुझसे भी साढ़े पांच हजार रुपए लिया गया। उन्होंने बताया कि मैं अपनी बेटी की शादी पलामू जिले के हैदरनगर में तय था।

इधर रामपुर गांव निवासी सुनेशवर रजवार ने बताया कि भूसवा के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बारी बारी से बुलाकर हम लोगों को पीटा और राशि ली गई। उन्होंने बताया कि मैं अपने पुत्र साजन की शादी कांडी थाना क्षेत्र के नावाडीह गांव निवासी नांहू रजवार के बेटी से तय कीया था। गांव वालों ने तीनों युवक एवं अभिभावकों को जमकर धुनाई कर दी एवं हम लोगों के ऊपर दंड लगाते हुए राशि ली गई। अपने रिश्तेदारों में भी जाने से गांव वालों ने प्रेम प्रसंग का मामला जोड़ रहे हैं। जो सरासर गलत है।

इधर थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार ने बताया कि इस मामले में नामजद अभियुक्त इबरार खां को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेजा गया है। शेष अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए प्रशासन प्रयास कर रही है बहुत जल्द ही सभी दोषियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। इधर नामजद अभियुक्त फरीद खां ने बताया कि लड़का एवं लड़की के साथ-साथ उनके अभिभावकों से भी सहमती लेने के बाद ही आगे की कार्रवाई की गई है। ग्रामीणों का कोई दबाव नहीं है साथ ही अभिभावकों से राय लेने के पश्चात ही आगे की कदम उठाई गई है। जिसका हम लोगों के पास ठोस प्रमाण भी उपलब्ध है।