परिवारिक लाभ योजना के तहत सड़क दुर्घटना में मृत मजदूरों के परिजनों को दी गई सहायता राशि

0

मंझिआव : क्षेत्र में प्रवासी मजदूरों का आने का सिलसिला जारी है। इस दौरान तेलंगना से रंगा रेडी जिले से एक पिकअप वाहन से लगभग 21 प्रवासी मजदूर लौट रहे थे। जिनकी पिछले 11 मई को वाहन अनियंत्रित होकर पलट जाने के कारन मझीआंव प्रखंड क्षेत्र के पंचायत बोदरा एवं मोरबे के दो मजदूरों की मौत हो गई थी।

जिसमें बोदरा पंचायत के गांव कामत निवासी अनिरुद्ध राम के 32 वर्षीय मृतक पुत्र सुदेशवर राम एवं मोरबे पंचायत के गांव करकटा निवासी स्वर्गीय प्रसिद्ध राम के 40 वर्षीय मृतक पुत्र बिहारी राम का शव शुक्रवार की अर्धरात्रि उनके पैतृक गांव मझीआंव पहुंचा। शव पहुंचते ही गांव में कोहराम मच गया तो दूसरी ओर मृतक के पत्नी एवं उनके पूरे परिवार दिहाड़ मार कर रोने लगे। उनके आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहा था।

सूचना पाते ही प्रखंड विकास पदाधिकारी अमरेन डांग एवं अंचलाधिकारी राकेश सहाय दोनों मृतक के घर पहुंच कर उनके परिजन को ढांढस जताया। इसके बाद दोनों प्रशासनिक पदाधिकारियों ने दोनों मृतिका के पत्नी प्रियंका देवी एवं अनीता देवी को परिवारिक लाभ योजना के तहत तत्काल प्रत्येक परिजनों को 10-10 हजार का चेक सौंपा और साथ ही 40 किलो खाद्यान्न के साथ-साथ दो-दो हजार रुपए तत्काल अंतिम दाह संस्कार के लिए नगद राशि दी। साथ ही दोनों मृतक के परिजनों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि सरकारी प्रावधान के अनुसार सारी व्यवस्था दिलाई जाएगी। इस दुख की घड़ी में प्रशासन आपके साथ है। सारा देश नाजुक स्थिति से गुजर रही है। धैर्य से काम लेने की जरूरत है।

इधर सड़क दुर्घटना में आंशिक रूप से घायल महेंद्र राम ने बताया कि हम सभी मजदूर कार्यस्थल से पांव पैदल चलकर 15 किलोमीटर दूरी तय करने के बाद नागपुर के लिए एक भाड़े का पिकअप वाहन पर 21 प्रवासी मजदूर सवार होकर आ रहे थे। इस दौरान नागपुर के समीप मुख्य सड़क पर सड़क दुर्घटना हो गई । बताया कि इस पिकअप वाहन पर भवनाथपुर के मकरी, मेराल के छप्परबार एवं यूपी सोनभद्र के मजदूर सवार थे। इस घटना में चार लोगों की मौत हो गई थी। जबकि 17 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिसका इलाज गढ़वा सदर अस्पताल में चल रहा है।