पीएम का चीन पर इकोनॉमिक सर्जिकल स्ट्राइक:18 से लॉक डाउन 4 और 20 लाख करोड़ के पैकेज से आत्मनिर्भरता पर जोर

0

एजेंसी: अचानक मजबूत फैसला लेने के लिए दुनिया भर में विख्यात भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन 4 को लेकर चली आ रही सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए एक नए तरह के लॉकडाउन के रूप में लॉक डाउन 4 को ऐसी सोच के साथ आगे बढ़ाने का मंत्र दिया जिससे हम और हमारा देश आत्मनिर्भर बन सकें। एक ओर यह देश को कोरोना काल में आगे बढ़ने का मंत्र के साथ-साथ पड़ोसी महाशक्ति चीन पर आर्थिक सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया। मतलब साफ है हमारे देश में प्रधानमंत्री के 20 लाख करोड़ के ऐतिहासिक राहत पैकेज से हमारा देश कुटीर लघु और मझोले उद्योगों के मार्फत आत्मनिर्भर बनेगा और विश्व के कई देश जो भारत को अपना सामान बेचने के लिए मंडी समझते हैं। उन्हें प्रधानमंत्री ने इस स्ट्राइक चौंका दिया।

देश के नाम अपने संबोधन में पीएम ने स्पष्ट कहा कि लॉकडाउन- 4 आ रहा है। पीएम ने कहा कि लॉकडाउन का चौथा चरण पूरी तरह नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा। राज्यों से मिल रहे सुझाव के आधार पर लॉकडाउन 4 से जुड़ी जानकारी आपको 18 मई से पहले दे दी जाएगी। बता दें कि लॉकडाउन के तीसरे चरण की अवधि 17 मई को खत्म हो रही है। इसके अलावा पीएम मोदी ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का भी ऐलान किया है। पीएम ने कहा कि ये आर्थिक पैकेज देश की विकास यात्रा को नई गति देगा।

यह पैकेज Land,Labour,Liquidity और Laws पर बल दिया गया है ।

देखें पीएम का संबोधन।https://youtu.be/v7mmX8A3M88

पीएम मोदी ने लोकल-वोकल, लोकल-ग्लोबल का नारा देकर चीन से आयात में भारी कमी के संकेत दे दिये। चीन में काम कर रही विदेशी कंपनियों को उखाड़ कर अपने यहां बसाने और आयात में कमी चीन पर ठीक वैसी ही आर्थिक स्ट्राइक है जैसी भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की थी। सर्जिकल स्ट्राइक में पाकिस्तान के भीतर घुस कर मारा था यहां भी चीन के भीतर घुसकर उसके उद्योग धंधों पर स्ट्राइक कर दी है।

  • पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन का चौथा चरण, लॉकडाउन 4….पूरी तरह नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा। राज्यों से हमें जो सुझाव मिल रहे हैं, उनके आधार पर लॉकडाउन 4 से जुड़ी जानकारी भी आपको 18 मई से पहले दी जाएगी।

  • कोरोना संकट का सामना करने के लिए पीएम मोदी ने विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की। उन्होंने कहा कि ये आर्थिक पैकेज, ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा। पीएम ने 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज का ऐलान करते हुए कहा कि ये पैकेज भारत की GDP का करीब-करीब 10 प्रतिशत है। पीएम ने कहा कि इन सबके जरिए देश के विभिन्न वर्गों को,आर्थिक व्यवस्था की कड़ियों को,20 लाख करोड़ रुपए का संबल मिलेगा,सपोर्ट मिलेगा। 20 लाख करोड़ रुपए का ये पैकेज, 2020 में देश की विकास यात्रा को,आत्मनिर्भर भारत अभियान को एक नई गति देगा।

  • पीएम ने “आत्मनिर्भर भारत” का मंत्र देते हुए कहा कि कोरोना काल में विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है- “आत्मनिर्भर भारत”। पीएम ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की ये भव्य इमारत, पांच Pillars पर खड़ी होगी। पहला पिलर Economy, एक ऐसी इकॉनमी जो Incremental change नहीं बल्कि Quantum Jump लाए, दूसरा पिलर Infrastructure, एक ऐसा Infrastructure जो आधुनिक भारत की पहचान बने। तीसरा पिलर हमारा System है, एक ऐसा सिस्टम जो बीती शताब्दी की रीति-नीति नहीं,बल्कि 21वीं सदी के सपनों को साकार करने वाली Technology Driven व्यवस्थाओं पर आधारित हो। चौथा पिलर हमारी Demography-दुनिया की सबसे बड़ी Democracy में हमारी Vibrant Demography हमारी ताकत है, आत्मनिर्भर भारत के लिए हमारी ऊर्जा का स्रोत है। पांचवां पिलर Demand, हमारी अर्थव्यवस्था में डिमांड और सप्लाई चेन का जो चक्र है, जो ताकत है, उसे पूरी क्षमता से इस्तेमाल किए जाने की जरूरत है।

  • पीएम मोदी ने कहा कि जब कोरोना संकट शुरू हुआ था, तब भारत में एक भी पीपीई (PPE) किट नहीं बनती थी। एन-95 मास्क का भारत में नाममात्र उत्पादन होता था। आज स्थिति ये है कि भारत में ही हर रोज 2 लाख PPE और 2 लाख एन-95 मास्क बनाए जा रहे हैं।

  • पीएम ने कहा कि भारत की प्रगति में तो हमेशा विश्व की प्रगति समाहित रही है।भारत के लक्ष्यों का प्रभावभारत के कार्यों का प्रभाव, विश्व कल्याण पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि जब भारत खुले में शौच से मुक्त होता है तो दुनिया की तस्वीर बदल जाती है। टीबी हो, कुपोषण हो, पोलियो हो, भारत के अभियानों का असर दुनिया पर पड़ता ही पड़ता है।

  • इसके साथ ही पीएम मोदी ने लोकल प्रोडक्ट्स को खरीदने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि आज से हर भारतवासी को अपने लोकल के लिए ‘वोकल’ बनना है, न सिर्फ लोकल Products खरीदने हैं, बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है। मुझे पूरा विश्वास है कि हमारा देश ऐसा कर सकता है।