पुलिया के अधूरे निर्माण से ग्रामीण परेशान

0

संवाददाता-विवेक चौबे

गढ़वा : जिले के कांडी प्रखंड के पतरिया पंचायत स्थित डुमरसोता मोड़ से सड़की गांव तक जाने वाली सड़क में ललहकी माटी नामक जगह पर 2.50 लाख की लागत राशि से बना पुलिया आज भी अधूरा है। पंचायत के चौदहवें वित्त योजना से उक्त पुलिया का निर्माण दो महिना पूर्व कराया गया था।उक्त निर्माण कार्य में राशि का बंदरबांट किया गया। जिस कारण योजना आज भी अधूरा है।सबसे बड़ी बात तो यह है कि उक्त स्थल पर पुलिया का निर्माण न कर छलका का निर्माण कराया गया है। जो अनुपयुक्त साबित हुआ ।अगर पुलिया का निर्माण होता तो नीचे से पानी निकल जाता।

उक्त योजना की पूरी राशि का भी निकासी कर लिया गया है। ग्रामीण शम्भू मेहता,मधु देवी,सुनैना देवी,उषा देवी,गोपाल मेहता,दिलकेश्वर मेहता ,नंदू मेहता,बेलास मेहता,प्रभा देवी,सुमित्रा देवी,सबिता देवी सहित कई अन्य ने आरोप लगाया कि इस योजना के लिए ग्राम सभा ने अमरजीत मेहता को अध्यक्ष चयन किया था। लेकिन वे केवल कागज तक ही सीमित रह गए। जबकि पुलिया का निर्माण कार्य बिचौलिया के माध्यम से कराया गया। जिसके वजह से राशि के बंदरबांट को बल मिला। ललहकी माटी के ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि दो महीना बीत गया अभी तक पुलिया अधूरा है।पुलिया बना या नही कोई फायदा हम सबों को नही हुआ। इस कच्ची सड़क से सड़की गांव होते दूसरे गांव व टोले तक आना जाना होता है।
पुलिया के दोनों तरफ का सम्पर्क सड़क नही बनने से पुलिया का निर्माण बेकार साबित हो रहा है। उस रास्ते से आने जाने वाले साइकिल व मोटरसाइकिल सवार बगल के खेत से होकर आना जाना करते देखे जा रहे हैं। जबकि चारपहिया वाहन का आवागमन पूर्ण रूप से बंद हो गया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पतरिया पंचायत में सभी सरकारी काम का यही हाल है।कोई भी योजना कारगर साबित नही हुआ। इस छलका पुलिया के दोनों ओर पहुंच पथ पर ठीकेदार द्वारा बालू भर दिया गया था ।लेकिन आज की स्थिति सभी के सामने है।
इस विषय में पंचायत मुखिया प्रतिनिधि मनोज कुमार चंचल ने बताया कि बरसात के भारी बारिश में पुलिया के दोनों छोर के पहुंच पथ की मिट्टी बह गया है। जल्द ही पहुंच पथ पर मिट्टी भर कर पुलिया पर आवागमन चालू कर दिया जाएगा।