प्रदेश सरकार बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देने की तैयारी में, करना होगा यह….

0

रांची: प्रदेश में बेरोजगारी की मार झेल रहे स्नातक और स्नातकोत्तर युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने के लिए हेमंत सोरेन सरकार तैयारी कर रही है। इसके तहत झारखंड के वैसे युवाओं को हर वर्ष 5000 से लेकर ₹7000 तक बेरोजगारी भत्ता दे सकती है। जय योजना वित्तीय वर्ष 2020-21 में अमल में झारखंड सरकार ला सकती है। इसके लिए श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग ने प्रस्ताव योजना प्राधिकृत समिति के पास स्वीकृति के लिए भेज भी चुका है। इसके बाद समिति योजना कैबिनेट के समक्ष रखेगी और कैबिनेट से मंजूरी मिलते ही यह लागू हो जाएगा।

खबरों के अनुसार बेरोजगारी भत्ता की प्रस्तावित योजना में झारखंड के श्रम, नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग मंत्री सत्यानंद ने कहा है कि इस दिशा में तेजी से पहल जारी है।

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार‌ यह बेरोजगारी भत्ता 10वीं और 12वीं पास कर चुके युवाओं को नहीं मिलेगा यह योजना सिर्फ स्नातक और स्नातकोत्तर किए हुए प्रदेश के ही बेरोजगार युवाओं को ही उपलब्ध होगा। वह भी महज 2 साल तक ही उन्हें बेरोजगारी भत्ता मिलेगा।

बेरोजगारी भत्ता लेने के लिए युवाओं को एक शपथ पत्र जमा करना होगा जिसमें यह जानकारी देनी होगी कि उनके पास कोई रोजगार के साधन नहीं हैं।