प्रेमी के हमले में घायल टाटा स्टील की ठेका मजदूर लक्ष्मी की इलाज के दौरान मौत, कंपनी प्रबंधन ने दुख जताते हुए सारे बेनिफिट देने को राजी

0

जमशेदपुर: टाटा स्टील में ठेका में काम कर रही लक्ष्मी जिस पर 15 फरवरी को उसके प्रेमी बादल हांसदा ने जानलेवा हमला कर दिया था। इसे गंभीर रूप से घायल हालत में टीएमएच में भर्ती कराया गया था। बुधवार की सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उसके शव को परिजनों ने शीतगृह में रख दिया है।

बता दें कि 15 फरवरी 2020 को टाटा स्टील कंपनी परिसर डी ब्लास्ट फर्नेस के पास सरायकेला-खरसावां जिले के आरआइटी थाना अंतर्गत काशीडीह निवासी बादल हांसदा के हमले मे जमशेदपुर भिलाई पहाड़ी निवासी 28 वर्षीय आदिवासी ठेका महिला मजदूर लक्ष्मी सोरेन बुरी तरह घायल हो गई थी। प्रेमी ने प्लांट के भीतर ही उस पर लोहे से हमला कर दिया था, जिससे वह बुरी तरह घायल हो गयी थी। प्रेमी ने सिर्फ इसलिए हमला किया था क्योंकि लक्ष्मी सोरेन ने अपने प्रेमी से वैलेंटाइन डे यानी 14 फरवरी को उससे बात तक नहीं की और प्रेमी के शादी के प्रस्ताव को इनकार कर दिया था। इस मामले में प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

यंहा क्लिक कर हमें twitter पर follow करें।

इधर दूसरी ओर लक्ष्मी सोरेन की मौत की खबर पर टाटा स्टील के प्रवक्ता कुलविन सुरी ने कंपनी की ओर से बयान जारी करते हुए कहा कि यह दुखद घटना है। काफी प्रयासों के बावजूद उसको नहीं बचाया जा सका, जिसका अफसोस है। कंपनी ने घटना को दुखद बताते हुए कहा है कि दुख की इस घड़ी में परिवार के साथ खड़ी है और उनके परिवार को हर संभव मदद पहुंचाने के लिए कृतसंकल्पित है।कंपनी ने साफ कर दिया है कि पीड़ित परिवार को कंपनी के कानून के मुताबिक, सारे सपोर्ट और सारे बेनीफिट दिया जायेगा।टाटा स्टील ने कहा है कि कंपनी को सुरक्षित कार्यस्थल बनाये रखने के लिए कंपनी कृतसंकल्पित है।

इस मामले में झारखंड सरकार और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने खुद गंभीरता दिखाते हुए दोषियों पर कार्रवाई करने का आदेश जमशेदपुर पुलिस को दिया और टाटा स्टील को कहा कि वे समुचित इलाज का बंदोबस्त करें।इसके बाद जमशेदपुर पुलिस ने 24 घंटे में प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, जिसने लक्ष्मी पर हमला वन साइडेड प्यार में किया था। लक्ष्मी उसे सपोर्ट नहीं कर रही जिससे खार खाए बादल ने मौका देख कर खाली जगह पाकर हमला कर दिया था।

यंहा क्लिक कर हमें twitter पर follow करें।

खबरों के अनुसार लक्ष्मी सोरेन जमशेदपुर के भिलाई पहाड़ी स्थित अपनी बहन के घर पर रहकर टाटा स्टील में ठेका मजदूर का करती है जबकि लक्षमी सोरेन खुद गालूडीह स्थित केशरपुर गांव की रहने वाली है, जिसकी शादी तक नहीं हुई थी।वैसे गिरफ्तार कर जेल भेजा गया प्रेमी बादल हांसदा शादीशुदा है।