बिगड़े मौसम में वज्रपात से अब तक 11 मौतें, दो लड़कियों ने आज गवाईं जान, फिर मौसम अलर्ट

0

रांची:झारखंड में मौसम विभाग के द्वारा आंधी, बारिश और वज्रपात, मेघ गर्जन सहित ओलावृष्टि की चेतावनी के बावजूद पिछले सप्ताह भर में 11 लोगों की जान विभिन्न कारणों से जा चुकी है। इनमें मंगलवार को भरनो प्रखंड के बड़ा तुरिअम्बा गांव की घटना भी शामिल है।जिसमें खेत में बीम चुनने गई दो नाबालिग लड़कियां बारिश होते देख एक पीपल के पेड़ के नीचे छुप गई। वहीं दूसरी ओर बकरी चराने गया सोमा उरांव व्यक्ति भी वहीं छिपा हुआ था। इसी दौरान बज्रपात हो गई और मौके वारदात पर ही तुरिअम्बा गांव की रूपु कुमारी और प्रियंका कुमारी की मौत होने की खबर है। साथ ही सोमा उरांव गंभीर रूप से घायल बताया जाता है।

बता दें कि एक ओर प्रदेश में कोरोना के कहर और लॉक डाउन से लोग परेशान हैं दूसरी ओर गुरुवार को राज्य के कई जिलों में तेज आंधी, बारिश, ओले गिरने और वज्रपात से जान माल के भारी नुकसान हुई थी। एक ओर वज्रपात से चार लोगों के जान जाने की खबर है। वहीं दूसरी ओर एक डैम में नाव पलटने से 5 लोगों के लापता होने की खबर है। 3 लोगों के शव अभी तक मिल चुके हैं जबकि 2 लोग लापता हैं। साथ ही बड़े-बड़े ओले गिरने से फसलों और घरों को भारी नुकसान पहुंची है।

इधर मौसम विभाग ने फिर से एक नई चेतावनी जारी करते हुए कहा कि चतरा,हजारीबाग ,कोडरमा, पलामू रांची, देवघर, दुमका के कुछ भागों में अगले दो तीन घंटे में मध्‍यम दर्जे की बारिश की संभावना जताई है। इसके अलावा 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी भी चल सकती है।