बिहार की तर्ज पर झारखंड में होमगार्डस का मानदेय व भत्ते की मांग को लेकर डीसी ऑफिस पर धरना, 8 मार्च तक का दिया अल्टीमेटम

0

जमशेदपुर : बिहार की तरह झारखंड में भी होमगार्डो को प्रति दिवस मानदेय समेत अन्य भत्ते दिये जाने की मांग को लेकर सोमवार को झारखंड होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन ने जिला उपायुक्त कार्यालय के समक्ष धरना दिया। उसके बाद उपायुक्त को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपते हुए कई मांगें रखी।धरना के माध्यम से घोषणा की गई कि अगर मांगों को 8 मार्च के पहले अगर पूरा नहीं किया जाता है कि विधानसभा के समक्ष 8 मार्च से बेमियादी धरना और प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।सूचना देने के बावजूद अगर किसी तरह की अनहोनी घटना होती है तो इसकी जवाबदेही झारखंड सरकार की होगी।

सीएम के नाम उपायुक्त को दिए गए मांग पत्र में एसोसिएशन ने कहा है कि बिहार के होमगार्डों को प्रति दिवस के रूप में 774 रुपये का भुगतान दिया जाता है। लेकिन झारखंड में मात्र 500 रुपये ही दिए जाते हैं। मांग पत्र में अभी कहा गया है कि बिहार की तरह झारखंड में भी होेमगार्डों को भविष्य निधि का लाभ दिया जाना चाहिए।बिहार में रिटायर होने पर होमगार्डों को एकमुश्त डेढ़ लाख रुपये दिए जाते हैं, लेकिन झारखंड राज्य में इस तरह का कोई भी प्रावधान नहीं है। इसके अलावा समान कार्य का समान वेतन भी देने की मांग की गई है।

धरना में कोल्हान प्रमंडल से सचिव विनय कुमार सिंह समेत बड़ी संख्या में होमगार्ड के जवान शामिल थे।