बीएसएनएल में चौकीदार रहा युवक बना आईआईएम रांची में प्रोफेसर!

0

रांची :आईआईएम में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर चयन होना अपने आप में एक गौरव की बात है, लेकिन इस पद पर चयन होने वाला कोई व्यक्ति रोल मॉडल तब बनता है, जब उसकी सफलता असाधारण हो. केरल के 28 वर्षीय रंजीत रामचंद्रन  की कामयाबी इन्हीं मायनों में खास है और वह युवाओं के बीच रोल मॉडल बन रहे हैं. सोशल मीडिया पर जो कहानी सामने आ रही है, उसके मुताबिक निम्न आयवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले रंजीत ने अपने छात्र जीवन में स्थानीय बीएसएनएल टेलीफोन एक्सचेंज में नाइट वॉचमैन की नौकरी की थी.

अब रंजीत आईआईएम रांची में बतौर सहायक प्राध्यापक छात्रों को इकोनॉमिक्स पढ़ाएंगे. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से नियुक्ति के लिए विशेष ड्राइव चलाया गया. इसके तहत एसटी श्रेणी में आईआईएम रांची में बतौर सहायक प्राध्यापक रंजीत रामचंद्रन का चयन हुआ. सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि कभी वॉचमैन के तौर पर रंजीत 4000 रुपये प्रतिमाह कमाते थे, जिन्हें अब लाखों का पैकेज मिलने जा रहा है.