बॉर्डर पर किसान जमें,तैनात पुलिस वाले डीजे पर ‘संदेशे आते हैं’, किसानों ने कहा.. देखें वीडियो

0

एजेंसी:कृषि कानून वापस लेने की मांग को लेकर लगभग 2 महीने से दिल्ली कई बॉर्डर पर किसान जमे हुए हैं। इधर 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान आंदोलन के हिंसक रूप लेने के कारण दिल्ली पुलिस अलग अलग सीमाओं पर भारी संख्या में किसान धरना दे रहे हैं।फिर से इस तरह की हिंसक घटनाएं ना हो उसके लिए सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर रही है।गाजीपुर बॉर्डर एक किले में तब्दील हो गया है। किसानों के धरनास्थल पर सुरक्षाबलों और पुलिस की तादाद बढ़ा दी गई है जो किसी भी हिंसा या उपद्रव से निपटने के लिए तैयार है। ड्रोन कैमरे से निगरानी की जा रही है।वाहनों की जांच जारी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान से और अधिक किसान प्रदर्शन में शामिल होने के लिए आ रहे हैं।पैदल जाने वाले लोगों को रोकने के लिए बैरिकेड के अलावा कंटीले तार लगाए गए और जगह जगह सड़क पर कीलें भी लगा दी गई हैं। तीन बॉर्डर पर इंटरनेट सेवा भी बंद है।

वहीं दूसरी ओर खबरों के अनुसार सिंघु बॉर्डर पर अलग अलग जगहों पर डीजे लगाए गए है।जिनके जरिए पुलिस जवानों में जोश बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। पुलिसवालों के लिए सिंघु बॉर्डर पर ‘संदेशे आते हैं….’ जैसे गाने बजाए जा रहे हैं।हालांकि किसानों को डीजे की इस धमक से परेशानी हो रही है उन्होंने डीजे बंद करने की मांग की है।

किसानों का कहना है कि डीजे की वजह से उनको समस्या आ रही है। किसानों के द्वारा लिखित बयान जारी करके डीजे बंद करने की मांग की है। किसान संगठनों ने बयान में सरकार से बातचीत के पहले सभी गिरफ्तार किसानों की रिहाई, बैरिकेडिंग के साथ पानी, टॉयलेट इंटरनेट सेवा से प्रतिबंध हटाने की मांग की।

देखें वीडियो