मजदूर किसान एकता मंच के बैनर तले सब्जी विक्रेताओं द्वारा आक्रोशित रैली निकाली

0

मझीआंव(गढ़वा)- पिछले दिनों बाजार समिति परिसर स्थित सब्जी विक्रेताओं के साथ मारपीट के मामले में सभी आरोपियों को अविलंब गिरफ्तार करने, नगर पंचायत कार्यालय के द्वारा लागू की गई टेंपो टैक्सी टेंडर को रद्द करने एवं कोरोना काल का बिजली बिल माफ करने आदि मांग को लेकर बुधवार को मजदूर किसान एकता मंच के बैनर तले सब्जी विक्रेताओं द्वारा आक्रोशित रैली निकाली गयी।

रैली पुरानी अस्पताल से चलकर पूरे बाजार पथ भ्रमण करते हुए ब्लॉक रोड के तीन मुहान चौक पर अवस्थित बाबा भीमराव अंबेडकर जी के प्रतिमा पर लोगों ने बारी-बारी से माल्यार्पण किया। इसके बाद प्रशासनिक व्यवस्था के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ब्लॉक के सामने पहुंचकर धरने में तब्दील हो गई। इस दौरान लगभग 300 से ज्यादा गरीब किसान मजदूर एवं सब्जी विक्रेता अपने हाथों में लाल और हरा झंडे लिए हुए थे। धरने की अध्यक्षता कर रहे नगर पंचायत के पूर्व उपाध्यक्ष भरत कुशवाहा एवं पलामू जिले के करकट्टा पंचायत के पूर्व मुखिया उपेंद्र कुशवाहा आदि वक्ताओं ने कहा कि अभी भी सामंतवादीयों के द्वारा गरीबों पर जुल्म ढाहा जा रहा है। इसे किसी भी परिस्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कहा कि कोरोना महामारी से एक ओर लोग जुझ रहे हैं।

किसी तरह गरीब किसान मजदूर ऑटो रिक्शा, ठेला खोमचा चलाकर व सब्जी बेचकर अपने बाल बच्चों का पेट भरते हैं। लेकिन दुर्भाग्य है कि पिछले दिनों फुटपाथ सब्जी विक्रेताओं के साथ टैक्सी ठेकेदार के इशारे पर सब्जी विक्रेताओं से खैराती वसुलवाया जा रहा था। नजराना नहीं देने पर सब्जियों को तितर-बितर कर दिया गया। कहा की मारपीट प्रकरण में शामिल सभी दोषियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो बाध्य होकर प्रशासनिक व्यवस्था के विरुद्ध आंदोलन को और तेज किया जाएगा। कहा कि फुटपाथ सब्जी विक्रेताओं से खैराती वसूलवाना अवैध था। साथ ही वक्ताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि टेंडर को खैराती वसुलवाया जा रहा था।

उच्च स्तरीय जांच किया जाए। कि किस हैसियत से कोरोना काल मे खैराती वसुलवाया जा रहा था। और सब्जी विक्रेताओं के साथ मारपीट किया जा रहा था। धरने के अंत में जिला उपायुक्त के नाम से स्थानीय वीडियो को 4 सूत्री मांग पत्र सौंपा गया। मौके वक्ता संतोष मेहता, मुकेश मेहता, अजय मेहता, वीरेंद्र सिंह, परीखा मेहता, प्रमोद पाल, अशोक शाह, कंचन कुशवाहा, अर्जुन मेहता, देवधारी मेहता, समेत करकटा,खजुरी, गहेड़ी,ओबरा,बुढ़ीखांड़ आदि ग्रामीणों से कई सब्जी विक्रेता एवं किसान मजदूर धरना स्थल पर मौजूद थे।

खबर सरिता देवी