मझीआंव(गढ़वा) में पशु तस्करी वारदात सामने आयी

0

झारखंड- मझीआंव(गढ़वा) थाना क्षेत्र के बोदरा गांव के समीप से बीती रात्रि पशु तस्करो के द्वारा पशुओं को क्रूरता पूर्वक मारते पीटते ले जाया जा रहा था। जब इसकी भनक राष्ट्रीय स्वयं संघ सह योगी सेना के सदस्यों को लगी। सदस्यों ने इसकी सूचना थाना प्रभारी सुधांशु कुमार को दी। थाना प्रभारी ने त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश रात्रि में गस्ती पर निकली पुलिस पदाधिकारी को दिया।

इसके बाद पुलिस ने विशेष अभियान चलाकर 23 पशुओं को जप्त कर थाना ले आया। हालांकि पुलिस के आने की भनक लगते ही पशु तस्कर अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे। इधर बताया जा रहा है ।कि पशु तस्कर ग्रामीण क्षेत्रों से खरीद कर पशुओं को पलामू जिले के सड़क मार्ग से औरंगाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग होते हुए पश्चिम बंगाल ले जाया जा रहा होगा। इसी दौरान 23 पशुओं को जप्त किया गया। बुधवार को जिले के संबंधित विभाग के अधिकारियों से निर्देश प्राप्त कर जरूरतमंद ग्रामीणों के बीच वितरण कर दिया गया।

इसके पश्चात आधार के प्रति छाया कॉपी एवं इकरारनामा के माध्यम से सभी पशुओं को ग्रामीणों के बीच वितरण किया गया है। इधर थाना प्रभारी सुधांशु कुमार ने सभी पशुधन के लाभार्थियों को निर्देश दिया है कि पशुओं के सेहत पर विशेष ख्याल रखेंगे। देखरेख करने के लिए ही पशुओं को आप लोगों के बीच वितरण किया गया है। उन्होंने कहा कि अपनी जिम्मेवारी समझते हुए ससमय आहार और पानी उपलब्ध कराएंगे। क्योंकि गौ सेवा करने से लोक पुण्य का भागी बनते हैं। मौके पर कनीय पुलिस अधिकारी जामा खड़िया, द्वारिका मांझी, सुजीत चौधरी ,प्रेम कुमार, शशिकांत सिंह. आदि कर्मी मौजूद थे।

खबर-सरिता देवी