Advertisement

अपने प्रतिनिधित्व की मांग कर रहे मिशन PM मोदी अगेन के सैकड़ो कार्यकर्ता।

- Advertisement -
- Advertisement -

आज हम बात करते हैं एक ऐसी संस्था जिसकी भूमिका 2019 लोकसभा चुनाव में महत्वपूर्ण रही है।
जी हां हम बात कर रहे हैं मिशन मोदी अगेन पीएम की।
इसकी स्थापना 2017 के मध्य में हुई तथा जनवरी 2018 में झारखंड राज्य में इस संस्था के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किये गए अनुरंजन अशोक।
2 फरवरी 2018 से झारखंड प्रदेश में इसका विस्तार सुरु हुआ। जिसके अंतर्गत राज्य के 1100 बूथों पर प्रत्येक बूथ पर 300 सदस्य बनाये गए।
मिशन मोदी अगेन पीएम के कार्यकर्ताओं के द्वारा प्रधानमंत्री द्वारा सुरु किये गए सारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी तथा लाभ सुदूर ग्रामीम क्षेत्रों तक पहुचाने का काम किया गया।
जिसका परिणाम यह हुआ कि झारखंड राज्य से लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी को उत्साहजनक परिणाम प्राप्त हुए।

- Advertisement -

लोकसभा चुनाव बित चुका है मोदी जी दुबारा पीएम बन चुके हैं। परन्तु अब सवाल यह है कि जितने लोग इस संस्था से जुड़े थे क्या उन्हें कॉन्ट्रेक्ट बेसिस पर सिर्फ लोकसभा चुनाव तक के लिए रखा गया था।
लग तो कुछ ऐसा ही रह है क्यों कि आगामी दिनों में राज्य में विधानसभा चुनाव आने को है। और इस वक़्त राज्य के तमाम बड़े नेता मिशन मोदी पीएम अगेन को नजरअंदाज कर रहे हैं।
जिससे इसके कार्यकर्ताओं के बीच खासा निरासा का माहौल है।
इन लोगों को अभी भी यह आशा है कि विधानसभा चुनाव में हमें प्रतिनिधित्व मिलेगा।
अब देखना यह है कि इस विषय पर पार्टी और उनके शिर्ष नेता क्या निर्णय लेते हैं।
तब तक के लिए बने रहिये हमारे साथ देखते रहिये झारखंड वार्ता।

- Advertisement -

READ THIS ALSO

Jharkhand Varta

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles