मांस की खुशबू से घर में घुसा बाघ फिर…… रमकंडा में क्या हुआ….

0

जमशेदपुर: रमकंडा थाना क्षेत्र के कुशवार गांव में कलशिया देवी नामक महिला अपनी झोपड़ी में मांस पका रही थी। इसी दौरान मांस की गंध से जंगल में से निकल कर एक बाघ उस घर में पहुंच गया और महिला को अपने जबड़े में दबाए जंगल की ओर खींचते हुए ले भागा। महिला के द्वारा बचाओ- बचाओ बाघ- बाघ की शोर सुनकर लोग दौड़ते भागते वहां पहुंचे तो देखा कि बाघ महिला को जंगल घसीट कर ले जा रहा है। लोगों के वहां पहुंचते पहुंचते बाघ ने उसे अपना निवाला बना लिया था और भाग चुका था।लोगों ने देखा कि बाघ उसे जंगल की ओर ले जा रहा है। लोग जब तक कुछ करते तब तक बाघ उसे अपना निवाला बना कर भाग चुका था। लोगों को वहां केवल कलशिया का क्षत- विक्षत शव ही मिला। इस घटना के बाद पूरे गांव सहित आस पास के लोगों में दहशत कायम है।

वही मृतक के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। खबरों के मुताबिक घटनास्थल जंगल बेतला टाइगर रिजर्व के जंगलों से जुड़ा हुआ है. इस कारण वहां के जानवर इलाके में आते रहते हैं.
इधर भंडरिया वन क्षेत्र के अधिकारी का कहना कि मौके वारदात पर से बाघ के पैरों के निशान मिले हैं।खबरों के मुताबिक बेतला से निकले बाघ ने महिला को मारने के बाद कुरुन गांव में भी पहुंचकर एक भैंस के बच्चे को भी खा गया है।

बताया जाता है कि प्रशासन के द्वारा कागजी खानापूर्ति के बाद मृतक के परिजनों को ₹4 लाख रुपए बतौर मुआवजा वन विभाग देगी।