मारपीट के खिलाफ कई गांव के मजदूर किसान का महापंचायत

0

झारखंड- मझिआंव बाजार समिति में अवैध वसूली का खिलाफ करने पर ठेकेदार के सहयोगियों द्वारा की गई मारपीट के खिलाफ कई गांव के मजदूर किसान का महापंचायत।

मझिआंव(गढ़वा) मझिआंव बाजार समिति में टैक्सी स्टैंड के ठेकेदार के सदस्य अशोक सिंह द्वारा अवैध वसूली करने एवं मारपीट करने के खिलाफ खजूरी गांव के आम बगीचे में मजदूर किसान एकता मंच के बैनर तले कई गांव के शब्जी विक्रेताओं द्वारा महापंचायत का आयोजन किया गया। और एक स्वर में आरोपी अशोक सिंह एवं उनके पुत्र व मारपीट करने में शामिल अन्य लोगों को अविलंब गिरफ्तार करवाने की मांग पुलिस अधीक्षक से की गई है।महापंचायत की अध्यक्षता पूर्व नगर पंचायत उपाध्यक्ष भरत कुशवाहा द्वारा की गई।

इस अवसर पर श्री कुशवाहा ने पुलिस अधिकारी पर भी आरोप लगाया गया और कहा गया कि जब वे अपने गांव के किसानों के साथ फरियाद लेकर थाना पर हुए थे। तो पहले उन्हें झूठा कहा गया। और उनके साथ दुर्ब्यावहार किया गया। इस दौरान पलामू जिले के करकटा के पूर्व मुखिया सह किसान उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि हम लोग अपनी फरियाद लेकर थाना गये थे। लेकिन वहां पर हम सभी को गरीब परिवार समझकर झूठा कहा जा रहा था। यह काफी दुःखद बात है। आखिर गरीब जनता कहाँ जायेगी।ज्ञात हो कि घटनाक्रम के 2 दिन के बावजूद करकटा गांव से सब्जी विक्रेता सब्जी लेकर मझीआंव नहीं आए।नतीजा सब्जी का भाव दुगनी रही ।अंत में सभी नामजद अभियुक्तों को अविलंब गिरफ्तार करने एवं अज्ञात लोगों को चिन्हित कर उन पर प्राथमिकी दर्ज करवाने की थाना प्रभारी सुधांशु कुमार से की गई है ।

साथ ही घटित घटना क्रम में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने एवं अभद्र व्यवहार करने वाले पुलिस पदाधिकारी के विरुद्ध पुलिस अधीक्षक तथा उपायुक्त गढ़वा व एसडीओ को लिखित शिकायत पत्र देने का निर्णय लिया गया। महापंचायत में उपेन्द्र कुशवाहा, कंचन कुशवाहा, अर्जुन मेहता, जितेंद्र मेहता, इंद्रदेव मेहता, रंजीत मेहता, मुकेश मेहता, कुंज बिहारी मेहता, सूर्यदेव मेहता, बलराज मेहता, अशोक साह, अशोक पाल सहित खजूरी, पलामू करकटा, गहिड़ी, जमडीहा, बुढिखाड़ के शब्जी विक्रेता व किसान शामिल थे।

खबर- सरिता देवी