मुख्यमंत्री ने दी झारखंडवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं, दुमका को मिला स्विमिंग पुल का सौगात

0

दुमका/रांची : झारखण्ड की सवा तीन करोड़ जनता को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं। यह दिन हमें वीर शहीदों को नमन करने का मौका देता है। यदि हम उनके आदर्शों को अपनी जिंदगी में उतारेंगे तो पुनः हमारे अंदर वही उर्जा का संचार होगा, जिसकी आवश्यकता हमारे देश, राज्य और समाज को है। ये बातें मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने कही। मुख्यमंत्री दुमका के इन्डोर स्टेडियम में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

एकजुटता भारत को पूरी दुनिया में ताकतवर बनायेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत विविधताओं का देश है। यहां के हर वर्ग के लोग हमेशा से मिलजुल कर रहते आए हैं। कंधे से कंधा मिलाकर काम किया है। हमें उम्मीद है कि आने वाले दिनों में यह एकजुटता बरकरार रहेगी और भारत पूरी दुनिया में एक बड़ी ताकत के रूप में जाना जाएगा। इतना ही नहीं हमारे देश की एकता पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल बनेगी।

वीरों की धरा है अपना झारखण्ड

मुख्यमंत्री ने कहा कि इतिहास इस बात का गवाह है कि झारखंड वीरों की भूमि रही है। यहां के वीरों ने अपने देश के लिए अपनी कुर्बानी दी है। हमें इस बात का गुमान है कि हम इस वीर भूमि के निवासी हैं, जिन्होंने इस देश, समाज, संस्कृति और धरोहर की रक्षा के लिए अपनी जान दे दी थी। भगवान बिरसा मुण्डा, सिदो- कान्हू चांद -भैरव और फूलो- झनो जैसे सैकड़ों वीरों ने देश की आजादी के लिए ब्रिटिश हुकूमत से लोहा लिया था और हंसते हंसते देश के लिए शहीद हो गए थे I मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने इन वीर शहीदों को नमन करते हुए कहा कि उनके सपनों का झारखंड बनाने के लिए सरकार कृतसंकल्पित है I

जबतक दुनिया रहेगी गणतंत्र दिवस का वजूद रहेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में नई सरकार बनने के बाद यह पहला मौका मिला है। जब हम गणतंत्र दिवस मनाने जा रहे हैं। पूर्व की तरह हमें इस दिन और भी यादगार बनाना है। भारत में कुछ तारीख ऐसी हैं जिसका वजूद तब तक रहेगा जब तक दुनिया रहेगी। इसमें 15 अगस्त और 26 जनवरी का दिन सबसे खास मायने रखता है। इस दिन को हम कभी भुला नहीं सकते हैं।

हमने चुनौतियों को स्वीकारा है, इसे अवसर के रूप में लिया है

हमें कई चुनौतियां मिली हैं। इतिहास एक बात का गवाह है कि हम चुनौतियों से हमेशा दो चार करते हुए लगातार आगे बढ़ते रहे हैं I इस बार भी चुनौतियों को स्वीकारा है। इसे एक अवसर के रूप में लिया है। अभी तो शुरुआत है। कई काम किए जाने हैं। हम पूरी ईमानदारी के साथ विकास योजनाओं को पूरा करेंगे ताकि हम झारखण्ड के लोगों के सपनों का झारखंड बना सकें। ये बातें मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कही। मुख्यमंत्री दुमका में स्विमिंग पुल के उद्घाटन कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे।

हम वादों पर नहीं इरादों पर विश्वास करते हैं

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड के विकास की खातिर जहां बात रखने की जरूरत होगी। उस मंच पर उसे रखा जाएगा। जहां काम करने की जरूरत है। वहां सिर्फ काम पर फोकस होगा। सरकार लोकलुभावन वादों में विश्वास नहीं करती बल्कि अपने इरादों को हकीकत में बदलने की बात करती है।

दुमका पूरे राज्य की नाक, इसकी इज्जत पर आंच न आये

मुख्यमंत्री ने कहा कि उपराजधानी दुमका उनकी कर्मभूमि रही है, लेकिन दुर्भाग्य से यह इलाका आज भी बहुत पिछड़ा है। संथाल परगना इलाके का सम्यक विकास उनकी प्राथमिकता में है। इस दिशा में स्विमिंग पुल का लोकार्पण एक शुरुआत है। आने वाले दिनों में यहां लोगों को सभी जरूरी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी और क्षेत्र के विकास के लिए योजनाओं को अमलीजामा पहनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुमका पूरे राज्य की नाक है। हम सभी को चाहिए कि इसकी इज्जत को बनाए रखने के लिए एकजुट होकर काम करें।

आम लोगों को भी अपनी जिम्मेवारी निभाने का आग्रह किया

मुख्यमंत्री ने यह संकल्प दोहराया है कि कि झारखंड के शहरों को कंक्रीट का जंगल नहीं बनने देंगे I शहरों को हरा भरा बनाएंगे और साफ सुथरा भी रखेंगेI मुख्यमंत्री ने इसके लिए आम लोगों को भी अपनी जिम्मेवारी निभाने का आग्रह कियाI उन्होंने यह भी कहा कि अगर लोग एकजुट रहेंगे तो कोई यहां के सौहार्द्र को नहीं बिगाड़ सकता है I मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि राज्य वासी सरकार के अभिन्न अंग के रूप में उन्हें अपना पूरा सहयोग करेंगे I