मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं 11 फरवरी से,9वीं और 11वीं के रिकॉर्ड पर स्कूटनी से परीक्षार्थियों की संख्या में कमी

0

रांची: 11 फरवरी से शुरू होने वाली मैट्रिक और इंटर की परीक्षा के लिए झारखंड अधिविध परिषद जैक की ओर से 11वीं और 9वीं के रिकॉर्ड के आधार पर की गयी स्क्रूटनी के बाद एक ओर परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आयी है। मैट्रिक में परीक्षार्थियों की संख्या जहां 51 हजार तथा इंटर में 73 हजार कम परीक्षार्थी हैं।इस साल मैट्रिक में 3 लाख 87 हजार परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं जबकि इंटर में परीक्षार्थियों की संख्या 2 लाख 41 हजार है। वहीं दूसरी ओर जैक की ओर से जारी मैट्रिक परीक्षा के एडमिट कार्ड में गलतियों की शिकायते आ रही हैं। कई परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड में नाम में गलती तो किसी एडमिट कार्ड में विषय के नाम की गड़बड़ी की शिकायते आयी हैं। परीक्षार्थियों का कहना है कि जब जैक ने 9वीं में भरे गये फॉर्म के आधार पर मैट्रिक परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी किया है, तो फिर गलतियां कैसे हुई हैं।

सूत्रों के अनुसार 11 फरवरी से मैट्रिक की परीक्षा होने वाली है। इस परीक्षा में भी परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आयी है। पिछले वर्ष की तुलना में इंटर में 51 हजार कम परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं।

बता दें कि वर्ष 2019 में 4,38256 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। प्रत्येक साल के विद्यार्थियों के आंकड़े देखें तो वर्ष 2011 में 3,54626, वर्ष 2012 में 4,31623, वर्ष 2013 में 4,69667, वर्ष 2014 में 4,78079, वर्ष 2015 में 4,55829, वर्ष 2016 में 4,70280, वर्ष 2017 में 4,63311, वर्ष 2018 में 4,48389 परीक्षार्थी शामिल हुए थे।

खबरों के अनुसार झारखंड अधिविध परिषद (जैक) की ओर से मैट्रिक व इंटर की परीक्षाएं 11 फरवरी से प्रारंभ होने वाली परीक्षाओं के मद्देनजर जैक ने सभी परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड जारी कर दिये हैं। इस साल उन्हीं परीक्षार्थियों को दोनों ही परीक्षाओं में शामिल होने दिया जा रहा है, जिनके रिकॉर्ड 11वीं और 9वीं में भराये गये फॉर्म से मिल रहे हैं।

वहीं अन्य खबरों के मुताबिक राज्य में इंटर की परीक्षा में आर्ट्स संकाय में सबसे ज्यादा परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं।इंटर आर्ट्स में 1,35000, साइंस में 76000 और कॉमर्स में 3000 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। जबकि परीक्षार्थियों के हर साल के आंकड़े देखें तो साल 2015 में 3,08766, 2016 में 3,21220, 2017 में 3,26109, 2018 में 3,16319 और 2019 में 3,14832 परीक्षार्थी शामिल हुए थे।