म्यांमार के दो नागरिक हजारीबाग जेल के डिटेंशन सेंटर से फरार

0

झारखंड (हजारीबाग)-झारखंड में हजारीबाग जिला मुख्यालय स्थित लोकनायक जयप्रकाश नारायण सेंट्रल जेल के डिटेंशन सेंटर से म्यांमार के दो विदेशी नागरिक मंगलवार को फरार हो गए। गौरतलब है कि इससे पहले भी पिछले वर्ष 13 सितंबर को म्यांमार का ही एक विदेशी नागरिक फरार हो गया था। यह भी बताया गया है कि विदेशी नागरिकों को वैध कागजात नहीं होने के कारण पकड़ा गया था। उन्हें जेल में भी रखा गया। सजा पूरी होने के बाद उन्हें डिटेंशन सेंटर में रखा गया था।

फरार शरणार्थियों में जाहिद हुसैन पिता नुरूल हकीम और मो जावेद पिता अमीर हकीम हैं. दोनो म्यांमार के मंगरीटोंग थाना बुशीडोंग अकरोन के रहनेवाले थे। फरार शरणार्थी 2 साल पहले दुमका से हजारीबाग डिटेंशन सेंटर लाये गये थे।14 फोरेन एक्ट के तहत दोनों को गिरफ्तार किया गया था। सजा अवधि 24 जरवरी, 2020 को खत्म हो गया थाम्यांमार के एमबेसी को इसकी जानकारी देकर डिटेंशन सेंटर में रखा गया था ।

जेपी केंद्रीय कारा डिटेंशन सेंटर में तैनात सुरक्षाकर्मी को दोनों शरणार्थियों के भागने की जानकारी दोपहर 12 बजे हुई. दूसरी पाली की ड्यूटी में पुलिस कर्मी अजीत कुमार डिटेंशन सेंटर पहुंचा. उसने देखा कि सुबह का नास्ता और भोजन की टिफिन टेबल पर रखा हुआ देखा. उसने जाहिद और जावेद को खाना खाने के लिए कई बार आवाज लगाया. अंदर से कोई आवाज नहीं आया. इसके बाद पुलिस कर्मी अजीत दरवाजे में लगे ताला खोलकर देखा. दोनों कमरे में नहीं थे. इसकी जानकारी पुलिस कर्मी ने तत्काल अपने सीनियर अधिकारियों को दिया. दोनों शरणार्थियों के फरार होने की सूचना पर डीसी आदित्य कुमार आनंद एवं एसपी कार्तिक एस ने जिले भर के सभी थाना पुलिस को वाहन चेकिंग करने का निर्देश दिया.