रांची की सड़कों पर अब मिलेगा स्वच्छ और पौस्टिक खाना, जाने कैसे?

0

रांची : राजधानीवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। अब रांची के हर होटल रेस्टोरेंट एवं स्ट्रीट फ़ूड स्टॉल पर मिलेगा स्वच्छ और पौस्टिक खाना मिलेगा। जी हाँ शासन की ओर से होटल संचालकों, उसके कर्मचारियों और सड़काें के किनारे खाद्य सामग्री के स्टॉल लगाने वालों को ट्रेनिंग दी जा रही है। साथ ही एफएसएसएआई ने खाद्य कारोबारियों के लिए फूड सेफ्टी ट्रेनिंग एंड सर्टिफिकेशन अनिवार्य कर दिया है। इसके अंतर्गत 12 लाख से अधिक टर्नओवर वाले को लाइसेंस लेना होगा।

ट्रेनिंग करना अनिवार्य

अगर बिना ट्रेनिंग के कोई विक्रेता सड़क पर या होटल में खाना परोसते हैं तो उनका लइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। एसडीओ लोकेश मिश्रा ने निर्देश जारी किया है। आपको बता दें की प्रसाशन की और से स्ट्रीट फ़ूड वालों को यह ट्रेनिंग बिलकुल मुफ्त दी जा रही है। पहले फेज में 9 हजार विक्रेताओं को ट्रेनिंग देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

हानिकारक रसायनो के जानकारी के साथ खाना परोसने के तरीके भी सिखाये जायेंगे

तजा आंकड़ों के अनुसार राजधानी निगम क्षेत्र में 500 फूड वैन और 10 हजार से अधिक ठेले लगते हैं। प्रत्येक विक्रेता को 4 घंटे की ट्रैनिग दी जाएगी। एक बैच में 40 दुकानदारों को ट्रैनिग दी जाएगी। दुकानदारों को हानिकारक रसायनो के जानकारी के साथ खाना परोसने के तरीके भी सिखाये जायेंगे। गुरुनानक स्कूल के पास आईएसीटी में ट्रेनिंग की व्यवस्था की गई है। ट्राइंग में 3 तरह के अलग अलग कोर्स होंगे। बेसिक, एडवांस के अलावा स्ट्रीट फूड वेंडर के लिए अलग से कोर्स होगा। बेसिक के लिए 600, एडवांस के लिए 800 रुपए (18% जीएसटी) देनी होगी। स्ट्रीट वेंडरों को नि:शुल्क ट्रेनिंग मिलेगी। इस ट्रैनिग के लिए विक्रेता ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन दे सकते है।