रिम्स में बेड दिलाने के नाम पर 30 से 50 हजार रुपए मांग करने वाले 3 दलालों को धर दबोचा गया

0

रांची- कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच कुछ लोग आपदा में अवसर तलाश करने में जुटे हैं। रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में दलाल कोरोना के संक्रमित मरीज़ों को भर्ती करने के नाम पर लोगों से मोटी रकम ऐंठ रहे हैं। यह बात किसी से छुपी नहीं है कि रिम्स में दलालों का कब्ज़ा है। लेकिन वैश्विक महामारी के कठिन समय में दलालों की सक्रियता और बढ़ जाने से पीड़ितों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। ताज़ा मामले के मुताबिक दलाल ट्रॉमा सेंटर में बेड दिलाने के नाम पर 30 से 50 हजार रुपए मांग रहे थे।

इस आशय का एक ऑडियो वायरल होने के बाद बरियातू थाने ने कार्रवाई करते हुए 3 दलालों को धर दबोचा। गिरफ्तार आरोपियों में एक रिम्स का वार्ड बॉय है तो दूसरा एक निजी अस्पताल का कर्मचारी और एक आरोपी बरियातू इलाके में ही चाउमीन दुकान चलाने वाला है।दलाल यह कहते हुए भी पाया गया कि ‘मरीज़ को एडमिट करने के बाद ही आपसे पैसा लिया जाएगा. मेरा आदमी ट्रॉमा सेंटर में खड़ा है, आप उससे संपर्क कीजिए। वो आपके मरीज़ को भर्ती करा देगा।’ अब सवाल यह खड़ा होता है कि दलालों के इस नेटवर्क के पीछे मास्टरमाइंड कौन लोग हैं और कितने लोगों का नेटवर्क कैसे काम कर रहा है?