रिम्‍स में नए ICU और 750 बेड के इंतजाम: सीएम सोरेन ने दिया आदेश

0

रांची:मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रिम्स में 110 बेड का नया आईसीयू और 750 कोविड डेडिकेटेड बेड की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही रांची के रिम्स में कोरोना का बढ़ता दवाब देखते हुए रामगढ़ में सीसीएल के 150 बेड वाले अस्पताल को कोविड मरीजों के लिए सरकार उपयोग में लाएगी। मुख्यमंत्री ने यह निर्देश गुरुवार शाम राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति को लेकर अपने आवास पर आपदा संबंधित उच्चस्तरीय बैठक के दौरान दी। बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये देवघर को छोड़ कर सभी जिलों के उपायुक्त और सिविल सर्जन उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री के साथ स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, सीएम के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, स्वास्थ्य सचिव केके सोन मुख्य रूप से मौजूद रहे।

सरकार दो कोबास मशीन खरीदेगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना संक्रमण को मद्देनजर रखते हुए समय के साथ प्राथमिकता और आवश्यकतानुसार निर्णय लेते हुए आगे बढ़ेगी। सरकार एक-एक व्यक्ति तक संक्रमण की तलाश करने की सोच रखती है। इसलिए सैंपल कलेक्शन बड़े पैमाने पर हो रहे हैं, लेकिन जांच मशीन सक्षम नहीं हो पा रही हैं। स्थिति को देखते हुए सरकार ने दो कोबास मशीन खरीदने का निर्णय लिया है। ताकि कलेक्ट किए गए सैंपल का सही तरीके से जांच हो और परिणाम जल्द मिल सके। हालांकि हर जिले में करना जांच की व्यवस्था कराई गई है।null

छह आरटीपीसीआर लैबोरेटरी बनेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि छह आरटीपीसीआर लैबोरेटरी रांची, जमशेदपुर, बोकारो, चाईबासा, गुमला और साहिबगंज में बनाया जाएगा। ताकि जांच में तेजी आ सके। उन्होंने कहा कि साहिबगंज में सांसद विजय हांसदा के सांसद फंड से बनाई गई लेबोरेटरी की क्षमता बढ़ाने के लिए सरकार राशि उपलब्ध कराएगी।

रिम्स की देखरेख में होगा आसपास के जिलों में इलाज

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि रांची के रिम्स में आसपास के जिलों से कोरोना मरीजों का काफी दबाव बढ़ गया है। इस कारण यह निर्णय लिया गया है। रांची के आसपास के जिलों हजारीबाग, रामगढ़ आदि में मरीजों का इलाज और मेडिकल सुविधाएं रिम्स के चिकित्सकों की देखरेख में उपलब्ध कराई जाएंगी। इसी के तहत रामगढ़ में सीसीएल के 150 बेड वाले अस्पताल को भी सरकार कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए उपयोग में लाएगी।