लकड़ी के इन टुकड़ों को वन विभाग की टीम ने रविवार को जब्त किया।

0

झारखंड- लकड़ी माफिया नरसिंहगढ़ हवाई पट्टी स्थित घने जंगल में साल के वृक्षों काटकर टपाने का कार्य कर रहे हैं। स्थानीय लकड़ी माफिया शॉ मिल से संपर्क कर लकड़ी काटने का काम कर रहे हैं। अमूमन रात के समय साल के पेड़ों की कटाई की जा रही है। वन विभाग की निष्क्रियता का फायदा लकड़ी माफिया उठा रहे हैं। चार-पांच दिन पूर्व हवाई पट्टी स्थित कांठ घर के सामने साल के 20 पेड़ों को काटकर पिकअप वैन में टपाए जाने की सूचना है। संबंधित क्षेत्र में साल के लगभग लगभग 40 पेड़ों को टुकड़ों में काटकर रख दिया गया था। लकड़ी के इन टुकड़ों को वन विभाग की टीम ने रविवार को जब्त किया।

लकड़ियों को ट्रैक्टर के सहयोग से वन विभाग के विश्रामागार परिसर में रखा गया है। इन टुकड़ों की लंबाई लगभग 6-7 फीट, गोलाई लगभग 4-6 फीट, चौड़ाई लगभग 4-5 फीट है। जब्त किए गए साल की लकड़ी की कीमत लगभग तीन लाख रुपये बताई जा रही है। हालांकि वनपाल बुद्धदेव ने बताया कि विभागीय टीम लगातार गश्ती करती है। विभाग के पास सुरक्षा बल की कमी है। सुरक्षा व्यवस्था के कोई साधन नहीं हैं। इस कारण रात में पेट्रोलिग नहीं हो पाती। इसी का फायदा लकड़ी माफिया उठा रहे हैं।

स्थानीय लकड़ी कारोबारियों से इस संबंध में पूछताछ की जा रही है। लकड़ी जब्त कर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया जा चुका है। मौके पर वनपाल बुद्धदेव के साथ वनरक्षी आकाश षाड़ंगी, तपन मुंडा, रंजू सोरेन उपस्थित थे।