लालू यादव की रिहाई में विलेन बना कोरोना, जमानत पर फंसा पेंच

0

लालू यादव को जेल से बाहर आने में अभी कई प्रक्रियों से गुजरना है। ऐसे में यदि न्यायिक कार्यों पर रोक लगा दी गई तो उनकी जमानत पर पेंच फंसना तय है। ऐसे में अब आगे क्या होगा इसका फैसला झारखंड स्टेट बार काउंसिल की अगली बैठक में हो जाएगा। बता दें कि 17 अप्रैल को झारखंड हाईकोर्ट ने चारा घोटाला मामले में लालू यादव को जमानत दे दी थी।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण रोजाना रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं। बढ़ते मामलों के मद्देनजर झारखंड स्टेट बार काउंसिल ने 25 अप्रैल तक न्यायिक कार्यों पर रोक लगाई हुई है। बैठक के बाद आगे का फैसला लिया जाएगा। ऐसे में अब बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की जमानत पर पेंच फंस गया है।

लालू यादव को जमानत मिलने से उनके जेल से बाहर आने की उम्मीद बढ़ गई थी। झारखंड हाईकोर्ट ने लालू को आधी सजा पूरी करने के आधार पर सशर्त जमानत प्रदान की है। इस दौरान उन्हें एक लाख रुपये का निजी मुचलके का बांड भरना था। साथ ही हाईकोर्ट का कहना है कि लालू बिना अनुमति के न तो देश छोड़कर जाएंगे और न ही मोबाइल नंबर बदलेंगे। फिलहाल उनका दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में इलाज चल रहा है।