लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार के अहम फैसले से जनता में खुशी, शर्तिया खुलेंगे दुकानें, क्या नहीं जानें..

0

एजेंसी: लॉक डाउन के बीच केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने शुक्रवार की देर रात भारतीयों के लिए एक राहत भरा फैसला सुना दिया जिससे आम लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई है। गृहमंत्रालय ने बड़ा निर्देश जारी करते हुए देश भर में दुकानों को खोलने का आदेश जारी कर दिया। देशभर में आज से तमाम दुकानों , बाजारों को खोलने का आदेश के साथ ही कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु कुछ शर्तें में लगाई है।ANI

@ANI

MHA orders to exempt all shops under Shops&Establishment Act of States/UTs, including shops in residential complexes and market complexes, except shops in multi-brand & single-brand malls, outside limits of Municipal Corporations from revised consolidated lockdown restrictions.

View image on Twitter

1,920

11:40 PM – Apr 24, 2020

Twitter Ads info and privacy

963 people are talking about this

इस आदेश के तहत शनिवार सुबह से सभी राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में सभी रजिस्‍टर्ड दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है लेकिन दिशा निर्देश और शर्तो का पालन करना जरूरी होगा।

गृहमंत्रालय ने जहां दुकानों को खोलने का आदेश दिया तो वहीं शॉपिंग मॉल्‍स और शॉपिंग कॉम्‍प्‍लेक्‍स को अभी कुछ दिन और इंतजार करना होगा । गृहमंत्रालय की ओर से मॉल्स और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स को खोलने की अनुमति अभी नहीं मिली है।

आदेश में कहा गया है कि शनिवार से वहीं दुकानें खुलेंगी , जो दुकानें संबंधित राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों के स्थापना अधिनियम के तहत रजिस्‍टर्ड होंगी।

दुकानों में अधिकतम 50 फीसदी स्टाफ को ही काम करने की छूट होगी।

दुकानदारों को सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा।

दुकान में काम करने वालों को मास्‍क लगाना अनिवार्य होगा।

गृह सचिव अजय भल्‍ला ने अपने आदेश में कहा है कि आवासीय परिसर के समीप स्थित और स्‍टैंड अलोन दुकानें जो नगर निगम और नगर पालिका की सीमा में आती हैं, उन्‍हें भी खोलने की अनुमति है।

इसके बाहर की सभी दुकानें लॉकडाउन में बंद रहेंगी।

गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक कोरोना हॉटस्‍पॉट और कंटेनमेंट जोन में स्थित किसी भी दुकान को खोलने की अनुमति नहीं है। उन जगहों पर पहले की तरह की लॉकडाउन के निर्देशों का पालन किया जाएगा।

बता दें कि इससे पहले सरकार ने इससे पहले 21 अप्रैल को आदेश जारी कर स्कूली किताबों की दुकानों को खोलने की छूट दी थी। वहीं बिजली के पंखे बेचने वाली दुकानों से प्रतिबंध हटा लिया गया था। शहरी क्षेत्रों में स्थित ब्रेड फैक्टरियां और आटा मिल में भी काम करने की छूट दी गई है।

बता दें कि लॉकडाउन की वजह से जरूरी सामान जैसे सब्जी, फल, दवाई और किराना की दुकानों को छोड़कर सभी प्रतिष्ठानों को बंद करने का निर्देश दिया गया था। लॉकडाउन की वजह से अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ रहा है। ऐसे में स्थिति को देखते हुए धीरे-धीरे लॉकडाउन में छूट दी जा रही है , ताकि गिरती अर्थव्यवस्था को संभाला जा सके।

वहीं दूसरी ओर गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक कोरोना हॉटस्‍पॉट और कंटेनमेंट जोन में स्थित किसी भी दुकान को खोलने की अनुमति नहीं है। उन जगहों पर पहले की तरह की लॉकडाउन के निर्देशों का पालन किया जाएगा।

गृहमंत्रालय ने अपने आदेश में कहा है कि शराब की दुकानों को नहीं खोला जाएगा। शराब की दुकानों को इस कैटेगरी से बाहर रखा गया है। वाइन शॉप को शॉप और एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के बजाए किसी अन्य कैटेगरी में रखा गया है। मतलब ये कि गृहमंत्रालय के ताजा निर्देश के बाद भी शराब की दुकानें अभी बंद ही रहेंगी। वहीं शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मल्टीब्रांड और मॉल इत्यादि को भी खोले जाने की इजाजत नहीं दी गई है।