लोहरदगा शीला अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर के प्रांगण में पड़ोस सम्मेलन का हुआ आयोजन

0

लोहरदगा : शीला अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर के प्रांगण में पड़ोस सम्मेलन का आयोजन हुआ। कार्यक्रम का प्रारंभ आए हुए अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्वलित कर एवं मां सरस्वती , ओम एवं भारत माता के चित्र पर पुष्पा चन कर किया गया। विद्यालय और समाज एक दूसरे के पूरक हैं। विद्यालय के द्वारा शिक्षा और संस्कार का संप्रेषण समाज में होता है। उसे विद्यार्थियों द्वारा व्यावहारिक प्रस्तुतीकरण से समाज में एक सकारात्मक परिवर्तन होता है। इस कार्य में समाज की सहयोगात्मक भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण होती है। शीला अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर में आयोजित पड़ोस सम्मेलन के अवसर पर विद्यालय के संरक्षक कृष्णा प्रसाद ने यह बातें कहीं। अतिथि परिचय प्रमेंद्र सिंह ने कराया। सामाजिक गीत जया मिश्रा ने प्रस्तुत किया। अंग्रेजी भाषा में वार्तालाप बहन समीक्षा और स्वप्निल ने प्रस्तुत किया। इस मौके पर सुंदरी देवी सरस्वती शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य सुरेश चंद्र पांडे ने पड़ोस एवं विद्यालय के आपसी सहयोग की आवश्यकता पर अपना उद्बोधन रखा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत संघचालक सच्चिदानंद लाल अग्रवाल ने अपना मार्गदर्शन रखते हुए कहा कि वर्तमान शिक्षा प्रणाली में अर्थ उपार्जन का उद्देश्य प्रमुख हो गया है। इससे मानवता का विकास नहीं हो पा रहा है। संस्कार और नैतिकता युक्त शिक्षा से ही सबल समाज का निर्माण हो सकता है सामाजिक कार्यकर्ता विवेकानंद ने विद्यालय की विकास धर्मी योजनाओं की प्रशंसा की विद्यालय के प्रधानाचार्य रमेश कुमार उपाध्याय ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पड़ोस और विद्यालय का अन्योन्याश्रित संबंध है विभिन्न प्रतियोगिताओं व्याख्यान मालाओं एवं विविध आकर्षक कार्यक्रमों का आयोजन करके समाज और पड़ोस के लोगों को भारतीय संस्कृति से जोड़ने का प्रयास विद्यालय निरंतर कर रहा है। इन सभी अवसरों पर समाज का सहयोग अपेक्षित है। सरकारी शिक्षक रामकुमार वर्मा जी ने कहा कि समाज यदि शरीर है तो विद्यालय उसका मस्तिष्क है। जिस प्रकार मस्तिष्क से प्रेरित होकर शरीर अपना कार्य करता है उसी प्रकार विद्यालय से ही समाज निर्देशित होता है। शिक्षक प्रमोद कुमार ने विद्यालय द्वारा आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं की महत्ता को रेखांकित किया। शिक्षक विनय कुमार ने कहा कि विद्यालय के विकास के लिए जो भी अपेक्षित सहयोग होगा हम लोग देने के लिए तत्पर हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वनवासी कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृपा प्रसाद सिंह ने कार्यक्रम की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कल्याण आश्रम द्वारा प्रशिक्षित होकर अनेक लोग देश के दुर्गम एवं दूरवर्ती क्षेत्रों में शिक्षा का प्रकाश फैला कर समाज को संस्कारित करने के महान कार्य में लगे हुए हैं। धन्यवाद ज्ञापन अमर कांत शुक्ला ने किया। उद्घोषणा का कार्य विष्णु दत्त पांडे ने किया।

इस कार्यक्रम में विद्यालय के उपाध्यक्ष विनोद राय ,सचिव अजय प्रसाद ,मनोहर लाल अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के प्राचार्य उत्तम मुखर्जी ,अमरकांत वर्मा उपस्थित थे । इस अवसर पर विद्यालय के पड़ोस में रहने वाले लगभग एक सौ लोग एवं सुंदरी देवी सरस्वती शिशु मंदिर शीला अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर एवं मनोहर लाल अग्रवाल इंटर महाविद्यालय के आचार्य एवं आचार्य उपस्थित हुए। कार्यक्रम का समापन वंदे मातरम के साथ हुआ।